दिल्ली में रंगे हाथ धरे गए दो पाकिस्तानी जासूस!, पाक हाई कमिशन में काम करते थे आरोपी

राजधानी दिल्ली में स्पेशल सेल ने पाकिस्तानी हाई कमिशन के दो अधिकारियों को जासूसी करते रंगे हांथों पकड़ा गया है। पाकिस्तानी दूतावास में दोनों अफसर वीजा असिस्टेंट के तौर पर काम करते हैं। दोनों पाकिस्तानी अधिकारियों के साथ उनके ड्राइवर को भी हिरासत में लिया गया है। 

पाकिस्तानी खुफिया एजेंसी ISI के लिए करते थे जासूसी

पाकिस्तान हाई कमिशन में काम करने वाले दो अधिकारियों के नाम आबिद हुसैन और ताहिर खान है। आरोप है कि दोनों पाकिस्तानी अधिकारी वीजा सहायक की आड़ में ISI के लिए जासूसी का काम करते थे। दोनों आरोपियों को रंगे हाथ गिरफ्तार करने के बाद उन्हें पर्सोना-नॉन ग्रेटा घोषित किया।

24 घंटे में देश छोड़ने का आदेश

पाकिस्तानी दूतावास के दोनों अफसरों को जासूसी में गिरफ्तार किए जाने के बाद भारतीय विदेश मंत्रालय का बयान आया। जिसमें कहा गया, ‘पाकिस्तान हाई कमीशन के दो अफसरों को नई दिल्ली में जासूसी करते पकड़ा गया है। भारत की जांच एजेंसियों ने ये कार्रवाई की है। सरकार ने इन्हें पर्सोना नॉन ग्राटा घोषित करते हुए 24 घंटे में देश छोड़ने को कहा है।

सेना की जानकारी जुटाने में लगे थे पाक जासूस

दोनों आरोपी आबिद हुसैन और ताहिर खान लंबे समय से भारतीय सेना से जुड़ी संवेदनशील जानकारियां हासिल करने की कोशिश कर रहे थे। आरोप है कि दोनों घूमने के लिए जाली पहचान पत्रों का इस्तेमाल भी करते थे। पिछले काफी वक्त से दिल्ली पुलिस दोनों अधिकारियों पर नजरे गड़ाए हुए थी। शक के आधार पर दिल्ली पुलिस ने एक ऑपरेशन चलाया और रंगे हाथ दोनों को हिरासत में लिया।

फर्जी ID के सहारे खुद को बताते थे भारतीय

42 साल का आबिद हुसैन पाकिस्तान के पंजाब प्रांत स्थित शेखपुरा जिला का रहने वाला है।वहीं 44 साल का मोहम्मद ताहिर इस्लामाबाद का रहने वाला है। दोनों दिल्ली की सड़कों पर खुलेआम घूमते थे और जासूसी करते थे। आरोप है कि दोनों फर्जी आईडी बनाकर खुद को भारतीय बताते थे।

अक्टूबर 2016 में समाजवादी पार्टी के पूर्व सांसद मुनव्वर सलीम के पीए मोहम्मद फरहत को गिरफ्तार किया गया था। उस पर पाकिस्तान उच्चायोग के इशारे पर जासूसी का आरोप था। इस मामले में कई और लोगों को गिरफ्तार किया गया था।  

You may also like...