झारखंड में आया कोरोना वायरस का पहला मामला, मलेशिया से आई महिला मिली कोरोना पॉजिटिव

अब तक कोरोना वायरस से अछूता रहा झारखंड भी अब इस अदृश्य बीमारी की चपेट में आता दिख रहा है। झारखंड की राजधानी रांची में कोरोना संक्रमण का पहला मामला सामने आया है। जिससे पूरे झारखंड में हड़कंप मच गया।

रांची से आया कोरोना का पहला मामला

झारखंड की राजधानी रांची की मस्जिद में रह रही मलेशिया की एक महिला कोरोना पॉजिटिव पाई गई है। महिला में कोविड-19 की पुष्टि के बाद से पूरा झारखंड सकते में आ गया क्योंकि अब तक झारखंड कोरोना वायरस के हमले से बचा हुआ था। स्‍वास्‍थ्‍य महकमा को हाई अलर्ट पर रखा गया है।

17 मार्च को रांची आई थी महिला

29 मार्च रविवार को ही रांची के हिंदपीढ़ी इलाके के बड़ी मस्जिद से 17 विदेशी नागरिकों समेत 22 लोगों को हिरासत में लिया गया था। पकड़े गए लोगों में मलेशिया के 4 पुरुष और 4 महिलाएं, UK के तीन, गाम्बिया और वेस्टइंडीज के 2-2 हॉलैंड और बांग्लादेश के 1-1 नागरिक शामिल थे। इन्ही लोगों में से एक महिला कोरोना संक्रमित पाई गई है।

राजधानी एक्सप्रेस से दिल्ली से रांची पहुंची थी महिला

बताया जा रहा है कि ये महिला तबलीगी जमात से जुड़ी है और ये दिल्‍ली के निजामुद्दीन मरकज में तबलीगी जमात के कार्यक्रम में शामिल होकर 17 मार्च को ही रांची आई थी। मलेशिया की कथित धर्म प्रचारक युवती ने 16 मार्च को नयी दिल्ली से रांची आने वाली राजधानी एक्स्प्रेस ट्रेन के B-1 बोगी में सफर किया था।

हिंदपीढ़ी के मस्जिद में ठहरी थी महिला

मलेशिया की कोरोना संक्रमित महिला को हिंदपीढ़ी के मस्जिद से पकड़े जाने के बाद रांची के खेलगांव में क्वारंटाइन के लिए रखा गया था। दो बार जांच में कोरोना वायरस के पॉजिटिव पाए जाने के बाद महिला को रिम्‍स के आइसोलेशन वार्ड में भर्ती कराया गया है। प्रशासन अब महिला की ट्रैवल हिस्‍ट्री निकालने में जुटा है। 

274 लोगों का लिया जा चुका है सैंपल

झारखंड में कोरोना के संदिग्धों की तादाद तेजी से बढ़ोत्तरी हुई है। सोमवार को पूरे झारखंड से 78 नए संदिग्ध सामने आए हैं। अब तक कुल 274 कोरोना संदिग्धों के सैंपल की जांच हुई है, जिनमें 266 की रिपोर्ट निगेटिव आई है। बाकी बचे 8 लोगों की रिपोर्ट का इंतजार है।

You may also like...