कोरोना काल में क्रिकेट के नियमों में बदलाव, क्या है ICC के नियमों में बदलाव के मायने, पढ़ें ये रिपोर्ट

कोरोना काल में दुनिया बदलाव के दौर से गुजर रहा है । इस वैश्विक महामारी में एतिहात बरतने के निर्देश दिए जा  रहे हैं । कई देशों ने अपने लोगों  को इस महामारी से बचाने के लिए सेना तक को उतार दिया । लॉकडाउन के साथ कर्फ्यू भी लगाए गए हैं । इसकी जरूरत इसलिए आ पड़ी है कि चार महीने बीतने के बाद भी इसका इलाज नहीं है । ऐसे में लाइलाज बीमारी के बीच क्रिकेट में भी नियमों में बदलाव पर जोरशोर से चर्चा है ।

क्या-क्या बदलाव संभव है ?

आईसीसी क्रिकेट को जल्द शुरू करने को बेताब है । लेकिन कोरोना संक्रमण में कमी आने का इंतजार है । इस बीच आईसीसी ने इंग्लैंड और ऑस्ट्रेलिया वनडे सीरीज के पहले कुछ नियमों में बदलाव का मन बनाया है । आईसीसी की मेडिकल टीम कन्कशन नियम लागू करने की तैयारी कर रहा है । इसके साथ ही बॉल टेंपरिंग के नियम में भी बदलाव की बात तेजी से चल रही है  क्योंकि लार से गेंद चमकाने से कोरोना संक्रमण का खतरा है ।  इतना ही नहीं आईसीसी इसके लिए ऑर्टिफिशियल पदार्थ लगाने की अनुमति दे सकता है । साथ की किसी क्रिकेटर के कोरोना संदिग्ध पाए जाने पर उसके स्थान पर दूसरे प्लेयर को खेलने का मौका दे सकती है ।

क्या है कन्कशन नियम ?                                                         

आम तौर पर क्रिकेट में मैच के दौरान एक प्लेयर के घायल होने पर उसके बदले दूसरे प्लेयर को खेलने की अनुमति नहीं थी । हाल में साइड रनर को उतारने पर बैन लग गया था लेकिन पिछले अगस्त में आईसीसी ने एशेज सीरीज से सब्स्टिट्यूट प्लेयर्स के लिए संबंधित नया नियम लागू किया । इस नियम के मुताबिक अगर किसी खिलाड़ी के सिर में चोट लग जाती है तो उसकी जगह दूसरा खिलाड़ी मैच में उतारा जा सकेगा । वह बल्लेबाजी, गेंदबाजी और विकेटकीपिंग भी कर सकता है। ऐसे खिलाड़ियों को कन्कशन सब्स्टिट्यूट कहा जाएगा । कन्कशन सब्स्टिट्यूट को मैदान पर उतारने का फैसला मैच रेफरी करेंगे । फिलहाल सब्स्टिट्यूट खिलाड़ी को केवल फील्डिंग करने छूट दी जाती है । कोरोना काल में भी संक्रमण को देखते हुए आईसीसी कन्कशन नियम लागू कर सकता है । 

इंग्लैंड विदेश में मैच कराने की तैयारी में

दरअसल इंग्लैंड में कोरोना का कहर चरम पर है । क्रिकेट क्या, हर खेल पर रोक है । ये रोक एक जुलाई तक है । ऑस्ट्रेलियाई टीम के साथ इंग्लैंड में T-20 और वनडे सीरीज होना है । वैसे ताजा हालात को देखते हुए सीरीज के रद्द होने की आशंका है । ऐसे में चर्चा का बाजार गर्म है कि इंग्लैंंड क्रिकेट बोर्ड मैच को देश से बाहर कराने की तैयारी कर रहा है । सूत्रों से ये भी जानकारी मिल रही है कि कैरेबियन देशों में मैच हो सकते हैं क्योंकि इन देशों में कोरोना का कहर काफी कम है । इस बीच आईसीसी क्रिकेट के नुकसान की भरपाई के लिए क्रिकेट के नियमों में बदलाव की तैयारी करने में जुटा है, ताकि क्रिकेट को फिर से शुरू किया जा सके क्योंकि आईसीसी को इंटरनेशनल क्रिकेट काउंसिल कहा जाता है । अगर क्रिकेट कोरोना काल में शुरू हुआ तो आईसीसी का मतलब होगा इमीडिएट क्रिकेट एट एनी कॉस्ट यानी क्रिकेट हर हाल में ।

You may also like...