यूपी के बुलंदशहर में पालघर पार्ट-2 ! दो साधुओं की हत्या से हड़कंप

महाराष्ट्र के पालघर में दो संतों को पीट-पीटकर बेरहमी से मौत देने का मामला अभी शांत भी नहीं हुआ था कि यूपी के बुलंदशहर में भी दो साधुओं की हत्या की खबर ने प्रशासन को हिला दिया और संत समाज में गुस्सा भर दिया.

धारदार हथियार से हत्या

ये वारदात बुलंदशहर के अनूपशहर इलाके में हुई जहां मंदिर परिसर में सोते वक्त दो साधुओं की बेरहमी से हत्या कर दी गई. दोनों साधुओं की हत्या धारदार हथियार से की गई. अनूपशहर के पगोना गांव के शिव मंदिर में हुए इस हत्याकांड का खुलासा मंगलवार की सुबह तब हुआ जब लोग भगवान के दर्शनों के लिए मंदिर में पहुंचे. जैसे ही ये वारदात सामने आई इलाके के लोगो में रोष फैल गया.

10 साल से मंदिर में रह रहे थे साधु

जिन दो साधुओं की हत्या हुई उनमें 55 साल के जगदीश और 35 साल के शेरसिंह शामिल हैं, बताया जा रहा है कि दोनों साधु पिछले 10 सालों से मंदिर परिसर में ही रहते थे, साधुओं की हत्या की खबर मिलते ही पुलिस के आलाधिकारी मौके पर पहुंच गए साथ ही फोरेंसिक टीम ने भी पहुंचकर जांच शुरु कर दी, उधर लोगों की नाराजगी को देखते हुए इलाके में भारी पुलिस फोर्स भी तैनात कर दी गई.

हत्या का आरोपी गिरफ्तार

जैसे ही साधुओ की हत्या की खबर सामने आई खुद मुख्यमंत्री योगी ने इसका संज्ञान लिया और पुलिस ने तेजी दिखाते हुए हत्या करने के आरोप में गांव के ही मुरारी नाम के एक नशेड़ी शख्स को गिरफ्तार कर लिया.

चिमटा चुराने के विवाद में हत्या            

पुलिस का दावा है कि पकड़ा गया शख्स मुरारी ही साधुओं का हत्यारा है और वो भांग के नशे का आदी है, पुलिस के मुताबिक मुरारी पर दो दिन पहले साधुओं का चिमटा चुराने का आरोप लगा था और इसी बात को लेकर दोनों साधुओं की मुरारी के साथ कहासुनी भी हुई थी जिसके बाद आरोपी ने साधुओं को अंजाम भुगतने की चेतावनी भी दी थी.

पालघर में दो संतो की हुई थी मॉब लिंचिंग

आपको बता दें कि करीब 11 दिन पहले बीते 17 अप्रैल को महाराष्ट्र के पालघर में दो साधुओं और उनके एक ड्राइवर की भीड़ ने पीट-पीटकर हत्या कर दी गई थी। जिस पर अब तक सियासत जारी है जाहिर है ऐसे में बुलंदशहर में हुई दो साधुओं की बेरहमी से हत्या के तुरंत बाद पुलिस हर एंगल से इसकी जांच में जुट गई लेकिन पुलिस के मुताबिक इस वारदात के पीछे एक नशेड़ी के बदले से ज्यादा कुछ नहीं हालांकि यूपी के सीएम योगी आदित्यनाथ ने इस पूरे मामले पर अधिकारियों से विस्तृत रिपोर्ट मांगी है.

You may also like...