फ्रेंच फॉर्मूला वन ग्रां प्री पर लगी कोरोना की नजर, 5 जुलाई से सीजन की शुरुआत!

कोरोना महामारी की वजह से दुनियाभर में तबाही का मंजर है। इसका सीधा असर खेलों पर देखने को मिल रहा है। कई टूर्नामेंट रद्द हो चुके हैं। टोक्यो में होने वाला ओलंपिक गेम्स एक साल के लिए टल गया है । इसी कड़ी में फ्रेंच ग्रां प्री फॉर्मूला वन रेस को भी रद्द कर दिया गया है।

कब होना था फ्रेंच ग्रां प्री फॉर्मूला वन रेस

फ्रांस में 28 जून को होने वाली फ्रेंच ग्रां प्री फॉर्मूला वन रेस को सोमवार को रद्द कर दिया गया। आयोजकों ने यह घोषणा की । रेस के प्रबंध निदेशक एरिक बोलियर ने कहा कि कोरोना संक्रमण के फैलने की वजह से फ्रेंच ग्रां प्री ने फ्रांस सरकार के फैसलों पर ध्यान दिया और हमने निर्णय किया कि मौजूदा हालात में इस प्रतियोगिता का आयोजन करना संभव नहीं है।

साल में कितनी रेसें रद्द

कोरोना के आतंक को देखते हुए इस साल फॉर्मूला वन की यह 10वीं रेस है, जिसे रद्द या स्थगित किया गया है । जिन रेस को रद्द करने का फैसला किया गया है उनमें फ्रांस के अलावा ऑस्ट्रेलिया और मोनाको की रेस शामिल हैं । वहीं बहरीन, चीन, वियतनाम, नीदरलैंड, स्पेन, अजरबेजान और कनाडा में होने वाली रेस को स्थगित कर दिया गया है।

कब शुरू हुआ फॉर्मूला वन रेस

फ़ॉर्मूला वन सीरीज की शुरुआत 1920 और 1930 के दशक के यूरोपियन ग्रैंड प्रिक्स मोटर रेसिंग से हुई है । फॉर्मूला नियमों का एक सेट हैं जिसे भाग लेने वाले रेसर्स और कारों को रेस जरूर पूरा करना  पड़ता है ।  1946 में सेकंड वर्ल्ड वार के बाद एक नया फॉर्मूला रेस शुरू हुआ इस चैम्पियनशिप के नियमों में कई बदलाव किए गए । इसके बाद वर्ल्ड ड्राइवर्स चैम्पियनशिप को 1947 तक औपचारिक रूप प्रदान नहीं किया गया। लेकिन प्रथम वर्ल्ड चैम्पियनशिप रेस का आयोजन 1950 में यूनाइटेड किंगडम के सिल्वरस्टोन में किया गया।

5 जुलाई से फॉर्मूला वन की शुरुआत

कोरोना की काली छाया के बीच ये ऐलान हुआ कि फॉर्मूला वन की शुरुआत ऑस्ट्रिया में हो सकती है । फॉर्मूला वन के प्रमुख चेस कैरी ने कहा कि कोरोना के प्रभावित सीजन 5 जुलाई से शुरू हो सकती है । इसके बाद हालात ठीक रहा तो सितंबर में यूरेशिया और दिसंबर में बहरीन में ग्रां प्री होगी और सीजन का फाइनल अबू धाबी में होगा ।

हम आपको बता दें कि कोरोना वायरस के की वजह फ्रांस में पिछले 24 घंटे के दौरान 369 लोगों की मौत हो चुकी है। जबकि फ्रांस में इस महामारी से 22 हजार आठ सौ छप्पन लोगों की मौत हो चुकी है ।  दुनिया में कोरोना से 2 लाख 8 हजार लोग मर चुके है । ऐसे में फॉर्मूला वन रेस का रद्द होना तय माना जा रहा था ।

You may also like...