क्राइस्टचर्च टेस्ट : टीम इंडिया पहली पारी में सस्ते में ढेर, कीवी की ठोस शुरुआत

न्यूजीलैंड दौरा विराट ब्रिग्रेड के लिए शुभ साबित नहीं हो रहा है। वहीं न्यूजीलैंड के प्लेयर्स जबरदस्त फॉर्म में हैं। कीवी टीम ने भारत के 242 रनों के जवाब में बिना विकेट खोए 63 रन बना लिये हैं। दो टेस्ट मैंचों की सीरीज के आखिरी मैच में टॉस कीवी कैप्टन केन विलियम्सन ने जीता और भारत को बल्लेबाजी करने का न्योता दिया। टीम इंडिया की शुरुआत की खराब रही। मयंक अग्रवाल 7 रन बना कर बोल्ट के शिकार बने। उसके बाद पृथ्वी शॉ और चेतेश्वर पुजारा ने पारी को संवारने की कोशिश की। इसमें कुछ हद कामयाब भी हुए। शॉ ने कुछ बेहतरीन स्ट्रोक लगाए और विदेशी धरती पर अपना पहला हाफ सेंचरी लगाया।

नहीं चले कोहली,रहाणे और पंत

पृथ्वी 54 रन बना कर चलते बनै । उसके बाद विराट कोहली तीन रन और रहाणे सात रन बनाकर जल्दी जल्दी आउट हो गए। इसके बाद पुजारा और हनुमा विहारी ने लड़खड़ाती पारी को संभालने के लिए जबरदस्त संघर्ष किया। खासकर हनुमा विहारी ने आक्रमण खेल दिखाया और आकर्षक शॉट लगाए। पुजारा और विहारी ने हाफ सेंचुरी जड़े।
चाय तक भारत का स्कोर 5 विकेट पर 194 था । लग रहा था कि टीम इंडिया बड़ा स्कोर खड़ा करेगी लेकिन इसके उलट टी ब्रेक के बाद भारत के अंतिम पांच बल्लेबाज महज 48 रनों में पैवेलियन लौट गए। मोहम्मद शमी 16 और जसप्रीत बुमराह 10 रन बनाए।

शॉ, पुजारा और विहारी के बल्ले से बरसा रन

हनुमा विहारी भारत की ओर से सबसे अधिक रन बनाने वाले बल्लेबाज रहे। विहारी ने 55 रन, वहीं पृथ्वी शॉ 54 और चेतेश्वर पुजारा 54 ने भी हाफ सेंचुरी लगाईं।

गेंद से चमके जेमीसन

न्यूजीलैंड के जैमीसन ने शानदार गेंदबाजी की और 14 ओवर में 43 रन देकर भारत के पांच विकेट झटके। साउदी और बोल्ट ने दो विकेट लिए ।
इससे पहले विराट कोहली ने टीम में दो बदलाव किए ईशांत शर्मा के स्थान पर उमेश यादव और आर आश्विन की जगह रवींद्र जाडेजा को खेलाया।
पहले दिन का खेल खत्म होने तक न्यूजीलैंड भारत से 179 रन पीछे है और उसके सभी बल्लेबाज आउट होने बाकी है फिलहाल कीवी ओपनर्स टॉम लाथम 27 और टॉम ब्लैंडल 29 रनों पर क्रीज नाबाद है।

क्राइस्टचर्च में न्यूज़ीलैंड का पलड़ा भारी

आखिर हो भी क्यों ना? क्योंकि क्राइस्टचर्च में खेले गए छह टेस्टों में कीवी ने चार में बाजी मारी है। ऐसे में विलियम्सन इस ग्राउंड को एकबार फिर लकी बनाने में कोई कसर छोड़ना नहीं चाहते और विराट की सेना के खिलाफ अभेद्य रणनीति बना चुके हैं।इस रणनीति के तहत टीम में नील वेगनर की टीम में वापसी हुई है ।

You may also like...