तेल पर इमरान का तुगलकी फरमान, एक दिन में पेट्रोल 25 रुपए और डीजल 21 रुपए महंगा

पाकिस्तान में इमरान सरकार ने वो काम कर दिखाया है जो आज से पहले किसी हुक्मरान ने नहीं किया. यहां इमरान सरकार ने एक ही दिन में तेल के दाम इस कदर बढ़ा दिए हैं जिसे सुनने के बाद ना सिर्फ पाकिस्तान की आवाम बल्कि हर कोई हैरान है. पाकिस्तान में तेल की कीमतों में बेतहाश दाम बढ़ाने के तुगलकी फरमान के बाद जनता में त्राहिमाम मचा हुआ है.

पेट्रोल से लेकर केरोसिन तेल तक महंगा

इमरान खान की सरकार ने शुक्रवार को सभी पेट्रोलियम प्रोडक्ट्स महंगे कर दिए पेट्रोल के दाम 25.58 रुपए प्रति लीटर बढ़ाए गए जबकि डीजल को 21 पाकिस्तानी रुपए प्रति लीटर महंगा कर दिया गया इतना ही नहीं गरीबों के लिए ईंधन के तौर पर सबसे ज्यादा इस्तेमाल किए जाने वाले केरोसिन ऑयल भी 24 रुपए प्रति लीटर महंगा हो गया.

तेल के नए भाव

अब पाकिस्तान में पेट्रोल का नया रेट 100 रुपए 10 पैसे प्रति लीटर जबकि डीजल का भाव 101 रूपए 46 पैसे प्रति लीटर वहीं मिट्टी के तेल का दाम 59 रूपए प्रति लीटर पहुंच गया है जिसके बाद महंगाई का और भी ज्यादा बढ़ना तय माना जा रहा है. यही कारण है कि जनता इमरान सरकार के इस फैसले से हैरान और परेशान है. यहां आपको बताते चलें कि भारत का 1 रुपया पाकिस्तान के 2.22 रुपए के बराबर है। यानी भारतीय करंसी की वैल्यू पाकिस्तानी करंसी के मुकाबले दोगुनी से भी ज्यादा है।

कई शहरों में पेट्रोल पंप बंद

तेल के नए भाव सामने आने के बाद कई शहरों में पेट्रोल पंप बंद कर दिए गए हैं. मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक अधिकतर पेट्रोल पंपों पर तकनीकी खराबी के बोर्ड लटका दिए गए हैं जबकि कुछ पेट्रोल पंप बिना किसी पूर्व सूचना के बंद कर दिए गए हैं.

इमरान सरकार को कोस रहे लोग

इमरान सरकार के इस एकतरफा फैसले से जहां पाकिस्तान की जनता त्राहिमाम कर रही है वहीं विपक्ष भी एकसाथ तेल की कीमत इतनी ज्यादा बढ़ाए जाने के बाद सकते में है. मीडिया चैनलों पर इस पर लंबी चौड़ी डिबेट की जा रही है और आवाम इमरान सरकार को पानी पी-पी कर कोस रही है.

विपक्ष ने खोला मोर्चा

सरकार के इस कदम का विपक्ष ने विरोध किया है पाकिस्तान पीपुल्स पार्टी यानी पीपीपी के चेयरमैन बिलावल भुट्टो जरदारी ने सरकार के फैसले की आलोचना करते हुए कहा कि- यह कैसा फैसला है। सरकार की नाकामी से मुल्क दीवालिया होने के कगार पर है लेकिन इसका मतलब यह नहीं कि वो खजाना भरने के लिए गरीबों को लूटे। सिलेक्टेड प्राइम मिनिस्टर मनमानी न करें तो बेहतर होगा वहीं नवाज शरीफ की पार्टी ने इसे पाकिस्तान की आवाम पर गिरा पेट्रोल बम करार दिया है.

You may also like...