योगी के गढ़ गोरखपुर में भी पहुंचा कोरोना वायरस, दिल्ली से लौटा शख्स संक्रमित निकला

कोरोना वायरस से अब तक गोरखपुर अछूता था लेकिन अब वहां भी कोरोना ने दस्तक दे दी है. दिल्ली के सफदरजंग अस्पताल से लौटे एक शख्स में कोरोना की पुष्टि होने के बाद वहां हड़कंप मच गया है. शहर के विधायक राधा मोहन दास ने इस खबर पर मुहर लगा दी है.

दिल्ली से लौटा शख्स संक्रमित

बताया जा रहा है कि बाबूलाल नाम का जो शख्स कोरोना से संक्रमित पाया गया है वो गोरखपुर के उरूवा थाना क्षेत्र का रहने वाला है और दिल्ली से रविवार को ही लौटा था. बाबूलाल का दिल्ली के सफदरजंग अस्पताल में शुगर और ब्लडप्रेशर का इलाज चल रहा था.

बीआरडी मेडिकल कॉलेज में एडमिट

रविवार की शाम इस कोरोना संक्रमित शख्स को मेडिकल कॉलेज में एडमिट कराया गया। बीआरडी के प्राचार्य डॉ. गणेश कुमार ने बताया कि मरीज को उसके परिवार वाले शाम करीब सात बजे एम्बुलेंस से लेकर पहुंचे। उसकी सांस फूल रही थी। सीने में दर्द की शिकायत थी। उनकी हालत को देखकर डॉक्टरों ने आइसोलेशन वार्ड में भर्ती किया। गले से लार का नमूना लेकर कोरोना जांच के लिए भेजा गया। प्राचार्य ने बताया कि मरीज की हालत को देखते हुए उसके सैम्पल की जांच सीबी नेट मशीन से कराई गई। यह मशीन करीब डेढ़ घंटे में रिपोर्ट देती है। रात करीब 10 बजे रिपोर्ट कोरोना पॉजिटिव मिली।

प्रशासन में मचा हड़कंप

जैसे ही मरीज की रिपोर्ट आई इसकी सूचना फौरन कमिश्नर, डीएम और सीएमओ को दी गई। जिसके बाद मरीज के साथ ही उसके परिजनों को भी क्वारंटीन कर दिया गया। मरीज को लेकर उनके परिवारीजन रविवार की सुबह दिल्ली से आए थे। घर पर शाम पांच बजे तबीयत खराब होने पर उनको पीएचसी उरुवा ले जाया गया, वहां से जिला अस्पताल और फिर बीआरडी मेडिकल कॉलेज में एडमिट किया गया।

संक्रमित के साथ आए थे 3 लोग

दिल्ली में मजदूरी करने करने गए बाबूलाल की तबीयत चार दिन पहले खराब हुई। उनके साथ दिल्ली में ही उरुवा क्षेत्र के तीन और लोग रहते हैं। साथियों ने उसे दिल्ली के सफदरजंग अस्पताल में भर्ती कराया। उनको सीने में दर्द की शिकायत रही। शनिवार को सफदरजंग अस्पताल के डॉक्टरों ने उसे रेफर कर दिया। साथियों ने उनको दिल्ली में किसी दूसरे अस्पताल ले जाने की बजाय गोरखपुर लाने का फैसला किया। साथ में तीनों साथी भी दिल्ली से एम्बुलेंस में लौटे। एम्बुलेंस ने तीनों को उरुवा में उतारा था।

गांव को किया जा रहा सैनिटाइज
मरीज के पॉजिटिव होने की सूचना के बाद गोरखपुर के कमिश्नर जयंत नार्लीकर ने कमान संभाली। आनन-फानन में कोविड-19 टीम को गांव के लिए रवाना किया गया। इसके साथ ही उरुवा पीएचसी के डॉक्टरों को भी गांव में भेजा गया। पुलिस टीम घर के सदस्यों का ब्योरा जुटाएगी। एम्बुलेंस से लौटे तीनों लोगों की तलाश की जा रही है.

You may also like...