मौत के वायरस से खेल रहे कोल इंडिया के कर्मचारी, कोरोना के खतरे से बेपरवाह कोल इंडिया!

आज जहां पूरी दुनिया में कोरोना को हराने के उपाय किए जा रहे हैं। देश से लेकर दुनिया के कई मुल्क लॉकडाउन हैं। लोगों से सोशल डिस्टेंस बनाए रखने की अपील की जा रही है। वहीं कुछ संस्थान में कोरोना वायरस को लेकर लापरवाही दिखाई दे रही है। इनमें से एक है कोल इंडिया जहां लाखों कर्मचारी शिफ्ट में काम कर रहे हैं।

झारखंड में कई कोल प्रोजेक्ट में कामकाज चल रहा है। वहां बॉयोमेट्रिक अटेंडेंस तो बंद किया जा चुका है लेकिन सोशल डिस्टेंसिंग पर ध्यान देखने को नहीं मिल रहा। कोल इंडिया के कई ऑफिसों में कर्मचारियों के लिए सेनेटाइजेशन की व्यवस्था तक नहीं। ना ही लोग मास्क का इस्तेमाल करते दिखाई दे रहे हैं।

File Photo

कोयले का प्रोडक्शन कर रही मशीनों पर तीनों शिफ्ट में काम काज चलता है। जब शिफ्ट बदलती है तब नए कर्मचारी उस गाड़ी या मशीन पर काम करने के लिए पहुंचते हैं। इस दौरान ना तो गाड़ी और ना ही मशीनों का सेनिटाइजेशन किया जाता है। यही हाल ऑफिसों का भी है जहां सैकड़ों कर्मचारियों का आना-जाना लगा रहता है और वहां भी सेनेटाइजेशन का जरूरी इंतजाम तक नहीं है।

कोल इंडिया को इस समस्या के बारे में कई बार सूचित भी किया जा चुका है। सीसीएल कोलियरी कर्मचारी संघ ने कोरोना के खतरे को देखते हुए चिट्ठी भी लिखा है लेकिन तक कोई कदम उठाया नहीं गया है। हालांकि सरकारी कंपनी कोल इंडिया लिमिटेड ने पहले ही अपनी अनुषंगियों को कोरोना वायरस का संक्रमण रोकने के लिए हर संभव उपाय करने के निर्देश दिये हैं। जिसका कुछ जगहों पर पालन नहीं दिख रहा।

You may also like...