आ गई भारत से कोरोना की विदाई की तारीख, सिंगापुर की रिपोर्ट दिल खुश कर देगी

हिंदुस्तान समेत तमाम देशों में कोरोना कहर बरपा रहा है भारत में तो वायरस से संक्रमितों की संख्या 28 हजार से ज्यादा पहुंच चुकी है लेकिन इस बीच सिंगापुर से एक खुशखबरी आई है जिसमें हिंदुस्तान से कोरोना की विदाई की तारीख बताई गई है.

20 मई तक खत्म होगा कोरोना!

जानकारी के मुताबिक सिंगापुर यूनिवर्सिटी ऑफ टेक्नॉलजी एंड डिजायन ने एक शोध में ये अनुमान लगाया है कि भारत से 20 मई तक कोरोना वायरस खत्म हो सकता है, यूनिवर्सिटी ने आर्टिफिशियल इंटेलीजेंस की मदद से आंकड़े जुटाकर उसका एनालिसिस करके ये दावा किया. यूनिवर्सिटी का ये भी अनुमान है कि दूसरे देशों में भी कोरोना जल्द खत्म होने वाला है.

दावे का आधार

सिंगापुर यूनिवर्सिटी ऑफ टेक्नॉलजी एंड डिजाइन यानी STUD ने अपनी रिसर्च के लिए ससेप्टिबल इंफेक्टेड रिकवर्ड महामारी मॉडल का अध्ययन किया. इसमें अलग-अलग देशों के संदिग्ध, संक्रमित और स्वस्थ होने वाले मरीजों के मॉडल का एनालिसिस किया, साथ ही कोरोना महामारी ने अलग-अलग देशों में जिन-जिन तारीखों पर मोड़ लिया उन सभी डेटा को पढ़ने के बाद कोरोना के 20 मई तक जाने की भविष्यवाणी की गई.

क्या बढ़ेगा लॉकडाउन ?

तमाम एक्सपर्टस ये पहले ही कह चुके हैं कि सोशल डिस्टेंसिंग और लॉकडाउन ही कोरोना का एकमात्र इलाज है. इतना ही नहीं सरकार भी ये कह चुकी है कि अगर लॉकडाउन का 16 मई तक पालन किया जाए तो कोरोना का कोई नया केस सामने नहीं आएगा, जिससे इस पर कंट्रोल किया जा सकेगा. ऐसे में सिंगापुर से आई ये रिपोर्ट करीब-करीब सटीक नजर आ रही है लेकिन इसके साथ ही सवाल ये भी है कि क्या लॉकडाउन 3 मई के बाद भी बढ़ाया जाएगा.

जान भी जहान भी

वैसे देखा जाये तो सरकार ने अब तक हालात को एक सधी हुई रणनीति के साथ कंट्रोल किया है प्रधानमंत्री मोदी ने पहले जान है तो जहान है कि बात कही, फिर जान भी जहान भी का नारा दिया इसके तहत लॉकडाउन मोड से बाहर आने की कवायद शुरु हो चुकी है. सरकार ने गांव गली और पड़ोस में दुकानों को खोलने की इजाजत दे दी है. साथ ही सरकार ने ये भी साफ कर दिया है कि फैक्ट्रियों और कारखानों में लोग काम तो करेंगे लेकिन मास्क और सोशल डिस्टेंसिंग के साथ, इतना ही नहीं सभी तरह के आयोजनों पर भी रोक है. यातायात भी बंद है कहने का मतलब है कि भीड़ को किसी भी कीमत पर एक जगह इकट्ठा नहीं होने देना है और यही कोरोना के खिलाफ सबसे बड़ा ब्रह्मास्त्र है.

You may also like...