अपने ही बयान पर घिरे योगी, प्रियंका ने पूछा- कोरोना पर क्या छिपा रही है सरकार ?

उत्तर प्रदेश में सियासी वार पलटवार के दौर में प्रियंका गांधी और मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ के बीच अब कोरोना के आंकड़ों को लेकर भी घमासान छिड़ गया है. मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ के बयान को आधार बनाकर प्रियंका गांधी ने सरकार से पूछा है कि क्या यूपी में कोरोना वायरस के 10 लाख से ज्यादा मरीज हैं?

योगी सरकार का दावा

यूपी के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने सोमवार को एक बयान देते हुए ये दावा किया था कि बड़ी संख्या में दूसरे राज्यों से आ रहे कामगार कोरोना वायरस से संक्रमित हैं बस प्रियंका ने योगी के इसी बयान को लेकर उन्हे कठघरे में खड़ा कर दिया प्रियंका ने योगी का वीडियो क्लिप शेयर किया और पूछा कि कोरोना संक्रमितों की संख्या पर सरकारी आंकड़े सही हैं या फिर योगी झूठ बोल रहे हैं?

यूपी में 10 लाख कोरोना संक्रमित?

प्रियंका गांधी ने अपने ट्विटर पर जो वीडियो अपलोड किया है उसमें योगी आदित्यनाथ यह कहते हुए सुनाई दे रहे हैं कि दिल्ली-मुंबई से लौट रहे प्रवासियों के कारण यूपी में कोरोना के मामले तेजी से बढ़े हैं. प्रियंका गांधी ने ट्विटर पर लिखा है कि- ‘उप्र के मुख्यमंत्रीजी का ये बयान सुना. सरकार के आंकड़ों के अनुसार लगभग 25 लाख लोग यूपी वापस आ चुके हैं. मुख्यमंत्री जी के बयान के आधार पर इनमें से महाराष्ट्र से लौटे हुए 75 प्रतिशत, दिल्ली से लौटे हुए 50 प्रतिशत और अन्य प्रदेशों से लौटे 25 प्रतिशत लोग कोरोना वायरस से संक्रमित हैं.’ 

सही आंकड़े क्या हैं ?

मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ पर हमला करते हुए कांग्रेस महासचिव ने ट्वीट किया कि-, ‘क्या मुख्यमंत्री जी का मतलब है कि उत्तरप्रदेश में 10 लाख से अधिक लोग कोरोना से संक्रमित हैं? मगर उनकी सरकार के आंकड़े तो संक्रमण की संख्या 6228 बता रहे हैं. उनके द्वारा बताए गए संक्रमण के आंकड़े का आधार क्या है? लौटे हुए प्रवासियों में संक्रमण का ये प्रतिशत आया कहां से.’ 

जनता को सच बताओ

प्रियंका गांधी ने एक के बाद एक हमला करते हुए कहा कि – ‘और यदि ऐसा है तो इतने कम जांच क्यों हो रहे हैं? या ये आंकड़े उप्र सरकार के दूसरे आंकड़ों की तरह ही अप्रमाणित और गैर ज़िम्मेदार हैं?’ प्रियंका ने सीधा सवाल करते हुए ट्वीट किया, ‘अगर मुख्यमंत्री जी के बयान में सच्चाई है तो सरकार पूरी पारदर्शिता के साथ जांच संक्रमण के डेटा और अन्य तैयारियों को जनता से साझा करे.’ 

बस पर भी हुई थी राजनीति

जितनी तेजी से यूपी में कोरोना के आंकड़े बढ़ते जा रहे हैं उतनी ही तेजी से यूपी में प्रियंका और योगी सरकार के बीच सियासी घमासान भी बढ़ता जा रहा है इससे पहले बस पॉलिटिक्स के जरिए भी प्रियंका योगी सरकार को कठघरे में खड़ा कर चुकी हैं. प्रियंका के ताजा हमले के बाद भी योगी सरकार फिलहाल बैकफुट पर नज़र आ रही है.

You may also like...