CORONA EFFECT : ओलंपिक गेम्स एक साल के लिए स्थगित, शिंजो आबे के प्रस्ताव पर IOC की सहमति

टोक्यो ओलंपिक को कोरोना वायरस से फैले महामारी की वजह से एक साल के लिए टाल दिया गया है। COVID-19 महामारी से खेलों के महाकुंभ पर अनिश्चितता के बादल मंडरा रहा था । इस बीच जापान के प्रधानमंत्री शिंजो आबे ने आईओसी प्रमुख थॉमस बाक से बातचीत की और शिंजो आबे ने ओलंपिक को एक साल के लिए स्थगित करने का प्रस्ताव रखा। जिस पर बाक ने सहमति जताई।

इंटरनेशनल ओलंपिक कमेटी मेंबर डिक पाउंड ने कहा कि ओलंपिक स्थगित करने का फैसला दुनिया के दबाव को देखकर लिया गया है। बता दें कि अमेरिका, ब्रिटेन और न्यूजीलैंड उन देशों में शामिल हैं। अब ओलंपिक 2021 की गर्मियों में होंगे। तारीख बाद में तय की जाएंगी।

जापान के सरकारी टेलीविजन एनएचके ने मंगलवार को यह जानकारी दी। जिसमें प्रधानमंत्री शिंजो आबे ने कहा कि कोरोना वायरस महामारी के कारण अगर टोक्यो 2020 ओलंपिक में सभी देश और खिलाड़ी भाग नहीं ले पाते हैं तो उनको स्थगित करना अनिवार्य होगा।

124 साल में ओलिंपिक 3 बार रद्द हुए, पहली बार टाला गया 

टोक्यो ओलंपिक इसी साल 24 जुलाई से 9 अगस्त तक होना था। लेकिन खिलाड़ियों को संक्रमण से बचाने के लिए ओलंपिक गेम्स को टालना बेहद जरूरी था। जापान में ओलंपिक रद्द होने का ये पहला मौका नहीं है। साल 1940 में टोकियो शहर को पहली बार ओलंपिक खेलों की मेजबानी मिली थी। लेकिन, चीन से जंग की वजह से ये गेम्स रद्द हो गए।

You may also like...