क्रिकेट पर कोरोना का साइड इफेक्ट, ICC फ्यूचर टूर प्रोग्राम में हो सकता है बदलाव

कोरोना काल में खेल पर काफी असर पड़ा है । कई बड़े टूर्नामेंट स्थगित या रद्द हो चुके हैं ।  इस बीच कोरोना की स्थिति और क्रिकेट को लेकर ICC ने एक अहम मीटिंग की । मीटिंग वीडियो कॉन्फ्रेसिंग से हुई जिसमें BCCI ने वर्ल्ड चैंपियनशिप स्थगित करने का सुझाव दिया। क्योंकि 2023 के फ्यूचर टूर प्रोग्राम (FTP ) में बदलाव की योजना है ।

टेस्ट चैंपियनशिप ना करने की मांग

मीटिंग में यह फैसला किया गया कि टेस्ट चैम्पियनशिप और मेन्स क्रिकेट वर्ल्ड कप सुपर लीग पर विचार-विमर्श अगले मीटिंग में हो । लेकिन बैठक में भारत एकमात्र बोर्ड था, जिसने स्थिति सामान्य होने तक टेस्ट चैम्पियनशिप स्थगित करने की बात कही थी । हम आप को बता दें कि ICC चैम्पियनशिप की अंक तालिका में भारतीय टीम 360 प्वाइंट के साथ टॉप पर है  और फाइनल के लिए क्वालिफाई करने की प्रबल दावेदार है ।  टीम ने 9 मैच में से 7 जीते और दो हारे हैं। ऑस्ट्रेलिया 296 प्वाइंट के साथ दूसरे नंबर पर है, उसने 10 में से 7 मैच जीते हैं और 2 हारे और एक ड्रॉ रहा है।

भारत-ऑस्ट्रेलिया सीरीज साल के अंत में

इस साल के आखिर में यानी दिसंबर-जनवरी में भारत और ऑस्ट्रेलिया के बीच टेस्ट सीरीज होने है । जिसमें चार टेस्ट मैच खेले जाएंगे । अगर कोरोन संक्रमण की वजह से हालात में सुधार नहीं हुआ तो इस टेस्ट सीरीज को भी रद्द किया जा सकता है । फिलहाल दिसंबर में करीब 8 महीने है लिहाजा माना जा रहा है कि दुनिया कोरोना संकट से उबर जाएगा ।

मनोहर को मिल सकता है एक्सटेंशन


कोरोना की वजह से फिलहाल दुनिया में कोहराम मचा है । ज्यादातर मीटिंग वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग से हो पा रही है । इस बीच ICC चेयरमैन शशांक मनोहर का कार्यकाल खत्म होने वाला है । उनका कार्यकाल जून तक है  और  कोरोना संक्रमण की वजह से जून में होने वाली ICC की बैठक टलने की पूरी संभावना है। ऐसे में हो सकता है कि ICC को अगस्त में नया चेयरमैन मिले । इस रेस में इंग्लैंड क्रिकेट बोर्ड के प्रमुख कोलिन ग्रावेस सबसे आगे  चल रहे हैं ।

FTP में बदलाव पर बनी सहमति

ICC के CEC ने वैश्विक महामारी की वजह से फ्यूटर टूर प्रोग्राम  में 2023 तक बदलाव पर सहमति जताई । मीटिंग में फैसला लिया गया कि वर्ल्ड टेस्ट चैम्पियनशिप और प्रस्तावित वनडे लीग पर फैसला बाद में लिया जाएगा । वनडे लीग जून में शुरू होनी है। ICC  के मुताबिक अगर सहमति बनी तो एफटीपी की समीक्षा करनी होगी और जितने भी टूर्नामेंट स्थगित हुए हैं । उन्हें दोबारा आयोजित करने की कोशिश की जाएगी। लेकिन सब कोरोना के संक्रमण में कमी पर ही निर्भर है । इस पर जितना जल्द काबू होगा । वह खेल की सेहत के लिए बेहतर होगा ।

You may also like...