COVID-19 का कहर: स्पेन के घरों में सड़ रही लाशें, इटली के बाद स्पेन में कोरोना की महामारी, 2800 लोग मारे गए

कोरोना वायरस ने इटली को कब्रिस्तान में तब्दील कर दिया है। हर और खौफनाक मंजर पसरा है। इटली की डरावनी और भयावह तस्वीरों के बीच स्पेन से कोरोना के कहर की तस्वीरें सामने आने लगी है। मौत के इस वायरस ने स्पेन को अपना नया ठिकाना बना लिया है। इटली के बाद स्पेन कोरोना संक्रमण का दूसरा बड़ा सबसे केंद्र बन चुका है।

स्पेन में 2800 लोगों की मौत

चीन के वुहान से निकला मौत का वायरस धीरे-धीरे शहरों को निगलना शुरू कर दिया है। कोरोना के कदम ने वुहान को वीरान बनाया तो इटली को कब्रिस्तान में तब्दील कर दिया। ऐसा लग रहा है कि अगली बारी स्पेन की है। क्योंकि स्पेन में 2800 लोगों की जान जा चुकी है। स्पेन में अब तक कोरोना वायरस के संक्रमण के 39, 885 केस सामने आ चुके हैं।

घरों में सड़ रही हैं लाशें

इटली के बाद यूरोप में दूसरा महामारी का केंद्र बन चुका है स्पेन और वहां हालात भयावह दिखाई दे रहा है। यहां एक दिन में 514 लोग मारे गए, जबकि 6 हजार 600 लोग संक्रमित हुए हैं। स्पने में कब्रिस्तानों में जगह कम होने की वजह से वहां कई घरों में लाशें पड़ी हुई हैं। कई घरों में लाशें सड़ने भी लगी हैं। कोरोना संक्रमण के डर से घर में रह रहे परिवार के सदस्‍य शवों को उठाने की हिम्‍मत भी नहीं जुटा पा रहे हैं।

स्पेन में सेना को उतारा गया

महामारी के खतरे को देखते हुए स्पेन की सरकार सेना की मदद ले रही है। हालात तो ये है कि कई गंभीर रूप से बीमार बुजुर्गों को उनकी खराब हालत में ही लावारिस छोड़ दिया गया है। स्पेन की सेना अब उन वृद्धाश्रमों की भी जांच कर रही है जहां पर बुजुर्ग थे। मैड्रिड के वृद्धाश्रम की भी जांच चल रही है जहां 17 बुजुर्गों की मौत हुई है।

14 मार्च से स्पेन में लागू है लॉकडॉउन

स्पेन की राजधानी मैड्रिड कोरोना वायरस की महामारी का केंद्र बन चुका है। स्पेन की गलियां अब सुनसान हैं और बाज़ार खाली पड़े हैं। मैड्रिड की वो सड़कें, जहां कभी चहल-पहल होती थीं वो आज ख़ाली पड़ी हैं। पूरे स्‍पेन में 14 मार्च से लॉकडाउन लागू किया गया है। इसके बावजूद मरने वालों की तादाद लगातार बढ़ती ही जा रही है।

You may also like...