प्रवासी मजदूरों के सबसे बड़े मसीहा, सोशल मीडिया पर छा गए सोनू सूद

लॉकडाउन के इस दौर में जहां शहर-शहर मजदूरों के पलायन का दर्द नजर आ रहा है वहीं एक्टर सोनू सूद घर लौटने वालों के लिए किसी मसीहा की तरह सामने आए हैं. सोनू सूद की यही भलमनसाहत आज सोशल मीडिया पर छाई हुई है, लोग उन्हें देश का असली हीरो बता रहे हैं.

सोशल मीडिया पर छाए सोनू

कोरोना वायरस के कारण हुए लॉकडाउन में सोनू सूद लगातार प्रवासी मजदूरों को अपने खर्च पर उनके घर भेजने का काम कर रहे हैं. वो बसो के जरिए लोगों को मुंबई से उनके राज्य में भेज रहे हैं. सोनू से लगातार जगह-जगह फंसे लोग गुहार लगा रहे हैं और सोनू भी किसी को निराश नहीं कर रहे हैं. वो तुरंत फंसे हुए लोगों को डिटेल मांग रहे हैं और मदद के लिए अपने हाथ आगे बढ़ा रहे हैं.

घर पहुंचने वालों की दुआएं

सोनू अपने खर्च पर हजारों लोगों को उनके घर भेज चुके हैं इस दौरान घर पहुंचे लोग भी सोनू को खूब दुआएं दे रहे हैं और हर कोई बड़े पर्दे पर विलेन का किरदार निभाने वाले सोनू को देश का असली हीरो बता रहा है.

स्मृति ईरानी बोली- तुम पर गर्व है

केन्द्रीय मंत्री स्मृति ईरानी ने सोनू के काम की खुलकर तारीफ की है उन्होंने कहा कि सोनू के काम की वो खुलकर तारीफ करती हैं और उन्हें सोनू पर गर्व है. स्मृति सोनू को 20 साल से जानती हैं उन्होंने सोनू की तारीफ में ट्वीट कर कहा, कि- ‘एक प्रफेशनल कलीग के तौर पर मैं आपको 2 दशक से ज्यादा समय से जानती हूं और एक एक्टर के तौर पर आपको उभरते हुए देखा है लेकिन इस मुश्किल वक्त में जो आपने दयालुता दिखाई है उस पर मुझे गर्व होता है। जरूरतमंदों की मदद करने के लिए शुक्रिया।’

मजदूरों के मददगार सोनू

सोनू ने अभी तक 1200 से अधिक मजदूरों को बसों के जरिए उनके घर तक भेजा है। सोनू ने यूपी-बिहार के अलावा कर्नाटक तक के प्रवासी मजदूरों के घर जाने का इंतजाम किया है। उन्होंने इस पहल का नाम ‘घर भेजो’ रखा है. सोनू केवल मजदूरों को घर ही नहीं भेज रहे हैं बल्कि उनके खाने-पीने का भी इंतजाम कर रहे हैं।

You may also like...