BIG BREAKING- पूरा भारत 21 दिनों के लिए लॉकडाउन, COVID-19 की लड़ाई में अस्पताल, दूध, सब्जी, राशन, दवाई दुकान खुली रहेंगी

दुनिया में महामारी का शक्ल अख्तियार कर चुके कोरोना वायरस को फैलने से रोकने के लिए पूरा भारत लॉकडाउन करने का ऐलान हो चुका है। भारत को 21 दिनों के लिए लॉकडाउन करने का फैसला लिया गया है।

मंगलवार रात 8 बजे प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने राष्ट्र को संबोधित किया और कहा कि कोरोना वैश्विक महामारी बन चुका है और इसे रोकने का कोई और रास्ता नहीं है। अगर कोरोना वायरस के संक्रमण के सर्किल को तोड़ना है तो सोशल डिस्टेंसिंग करना ही होगी।

14 अप्रैल तक रहेगा लॉकडाउन

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कहा कि आने वाले 21 दिन भारत के लिए काफी महत्वपूर्ण हैं। करोना वायरस को रोकने के लिए देश में संपूर्ण लॉकडाउन होने जा रहा है।  25 तारीख से शुरू हो रहा 21 दिनों का लॉकडाउन तीन सप्ताह बाद 14 अप्रैल को पूरा होगा।

21 दिन नहीं संभले तो 21 साल पीछे जाने का खतरा

पीप्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कहा कि 21 दिनों का लॉकडाउन आपको और आपके परिवार को बचाने के लिए लागू किया जा रहा है। इस दौरान घरों से निकलने पर पूरी पाबंदी लगाई जा रही है। अगर हिंदुस्तान 21 दिन नहीं संभला तो कई परिवार तबाह हो जाएंगे।

अस्पताल, दूध, सब्जी और दवाई दुकान खुली रहेंगी

पूरे भारत में लॉकडाउन के दौरान जरूरी सेवाएं जारी रहेंगी। अस्पताल, दूध, सब्जी और दवाई दुकान को लॉकडाउन से छूट देने का फैसला लिया गया है। प्रधानमंत्री मोदी ने लोगों को अंधविश्वास और अफवाहों से बचने की भी सलाह दी है।

सोशल डिस्टेंसिंग से हारेगा कोरोना

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कहा कि सोशल डिस्टेंसिंग से कोरोना हारेगा। अगर कोरोना संकट नहीं टला तो इसकी आर्थिक कीमत पूरे देश को चुकाना होगा। पीएम ने कहा कि एक एक भारतीय के जीवन को बचाना चुनौती है। भारत सरकार और हर राज्य सरकार की सबसे बड़ी प्राथमिकता है कि हिंदुस्तान पर आए संकट को किसी कीमत पर टाला जाए। अगर इस बिमारी को रोका नहीं गया तो भारत 21 साल पीछे चला जाएगा। मोदी ने लोगों से निवेदन करते हुए कहा है कि ‘मेरी आपसे प्रार्थना है। मैं हाथ जोड़कर प्रार्थना करता हूं कि आप इस समय देश में जहां भी हैं वहीं रहें।’

You may also like...