CORONA BREAKING- देश के 28 राज्य के 551 जिले लॉकडाउन, सामने आए कोरोना के 499 केस, 9 लोगों की गई जान

देश में कोरोनावायरस के संक्रमण के अब तक 499 मामले सामने आ चुके हैं और ये आंकड़ा हर पल बढ़ता जा रहा है। कोरोना के खतरे को देखते हुए 28 राज्यों के 551 जिलों को पूरी तरह से लॉकडाउन कर दिया गया है जिसके कारण 102 करोड़ लोग अपने घरों में कैद हैं।

कोरोना के खतरे को रोकने लिए लोगों से घर से बाहर ना निकलने की अपील की जा रही है इसके बावजूद कई शहरों में लोग रविवार देर रात और सोमवार सुबह सड़कों पर दिखे इसी कारण प्रधानमंत्री मोदी ने सोमवार को लोगों से सरकार के निर्देशों का पालन करने की दोबारा अपील की।

लॉकडाउन गंभीरता से लें- मोदी

प्रधानमंत्री मोदी ने ट्वीट करके कहा है कि ‘लॉकडाउन को अभी भी कई लोग गंभीरता से नहीं ले रहे हैं। कृपया करके अपने आप को बचाएं, अपने परिवार को बचाएं, निर्देशों का गंभीरता से पालन करें”।

राज्यों को सख्ती बरतने के निर्देश

केन्द्र सरकार ने इस मामले में राज्यों को सख्ती बरतने के निर्देश दिये हैं राज्य सरकारों को कहा गया है कि जो भी लॉकडाउन का उल्लंघन करते हुए पाया जाए उस पर कानूनी कार्रवाई की जाए पीएम मोदी ने अपने ट्वीट में कहा है कि– राज्य सरकारों से मेरा अनुरोध है कि वो नियमों और कानूनों का पालन करवाएं। इससे पहले रविवार को भी मोदी ने जनता कर्फ्यू के बाद लोगों को धन्यवाद देते हुए लॉकडाउन किए गए शहरों के लोगों को घरों से बाहर न निकलने के लिए कहा था।

रविवार को 81 नए केस, आज भी वही रफ्तार

इंडियन काउंसिल फॉर मेडिकल रिसर्च यानी आईसीएमआर के मुताबिक, रविवार को सबसे ज्यादा 81 लोगों में संक्रमण की पुष्टि हुई जो एक दिन में सबसे ज्यादा है.. इससे पहले शनिवार को 79 नए मामले सामने आए थे।

23 राज्यों तक फैला संक्रमण

कोरोना संक्रमण देश के 23 राज्यों में पहुंच चुका है सबसे ज्यादा 89 मामले महाराष्ट्र में सामने आए हैं…यहां एक दिन में 15 नए कोरोना पॉजिटिव केस सामने आए हैं..महाराष्ट्र के बाद केरल में 67 संक्रमित मिले हैं जबकि दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविन्द केजरीवाल ने जानकारी दी है कि दिल्ली में कोरोना के अब तक 30 मरीज सामने आए हैं… सिर्फ झारखंड, सिक्किम, अरुणाचल, असम, मेघालय, नगालैंड, मणिपुर, त्रिपुरा, मिजोरम में अभी कोरोना वायरस का मामला सामने नहीं आया है।

सिर्फ 7% मामलों में रिकवरी

कोरोना का दवा का अब तक इजाद ना किया जाना सबसे बड़े डर का कारण बना हुआ है इसलिए बार-बार इससे बचाव की बात कही जा रही है मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक कोरोना के 90% मरीज अस्पताल में भर्ती हैं जिनमें से सिर्फ 7% मामलों में रिकवरी हुई है कोरोना के कारण पूरा देश धीरे-धीरे लॉकडाउन की तरफ बढ़ रहा है।

दिल्ली में कौन सी सेवा जारी

दिल्ली में लॉकडाउन के दौरान एक जगह पर 5 से ज्यादा लोग इकट्ठे नहीं हो पाएंगे जरूरी कार्यों के लिए 25% डीटीसी की बसें चलाई जा रही हैं इनसे अस्पताल या जरूरी कामों के लिए लोग जा सकेंगे लॉकडाउन के दौरान मेडिकल दूध और राशन की दुकानें खुली रहेंगी लेकिन बाजार सामान लाने घर का सिर्फ व्यक्ति ही निकल सकता है लॉकडाउन के दौरान प्राइवेट सेक्टर में काम करने वाली कर्मचारी ड्यूटी पर माने जाएंगे और उन्हें तनख्वाह दी जाएगी।

दिल्ली में कौन सी सेवाएं बंद

लॉकडाउन के दौरान कोई भी पब्लिक और प्राइवेट ट्रांसपोर्ट नहीं चलेगा, 31 मार्च तक दुकानें बाजार और शॉपिंग मॉल बंद रहेंगे, सभी प्राइवेट दफ्तर बंद रहेंगे..दिल्ली की सभी सीमाओँ को सील कर दिया गया है।

You may also like...