CORONA IMPACT: दिल्ली लॉकडाउन के दौरान तनाव-100 दिन बाद जबरन खाली कराया गया दिल्ली का शहीन बाग

लॉकडाउन के बीच दिल्ली में कोरोना के बढ़ते प्रकोप को देखते दिल्ली के शाहीनबाग को खाली करा लिया गया है। मंगलवार सुबह दिल्ली पुलिस ने यहां प्रदर्शन कर रहे लोगों को जबरन हटा दिया

पुलिस ने उखाड़े तंबू

शाहीन बाग में नागरिकता कानून और एनसीआर के खिलाफ बीते 100 दिनों से लगातार प्रदर्शन चल रहा था ।प्रदर्शनकारियों से बार-बार धरना खत्म करने की अपील की जा रही थी।लॉकडाउन के बाद सरकार ने साफ कर दिया था कि एक जगह चार से ज्यादा लोग इकट्ठे नहीं होंगे । लेकिन प्रदर्शनकारियों पर इन बातों का कोई असर नहीं हो रहा था जिसके बाद आज सुबह करीब 7.30 बजे दिल्ली पुलिस ने यहां एक्शन लिया ।

नहीं मान रहे प्रदर्शनकारी

पुलिस के एक्शन का विरोध करने वाले कुछ लोगों को हिरासत में भी लिया गया।लेकिन टेंट उखडने के दो घंटे बाद यहां फिर से प्रदर्शनकारी पहुंच गए हैं ।पुलिस उन्हें समझाबुझा कर घर भेजने की कोशिश कर रही है। दिल्ली पुलिस भीड़ को समझा रही है कि वो अपना प्रदर्शन बाद में जारी रख सकते हैं, लेकिन फिलहाल कोरोना महामारी को देखते हुए वह जिद न करें ।हालांकि कुछ लोग फिर भी धरने पर अड़े हुए हैं।

दिल्ली में धारा 144

दिल्ली में फिलहाल कोरोना वायरस की वजह से लॉकडाउन है, 144 भी लगाई गई है। लोगों से घर में रहने को कहा गया है जिससे कोरोना ज्यादा न फैल पाए । यहां लॉकडाउन का उल्लंघन करने पर पुलिस ने 1000 लोगों के खिलाफ केस भी दर्ज किया है।

लखनऊ में भी प्रदर्शन खत्म

इससे पहले लखनऊ के घंटाघर पिछले करीब 66 दिनों से चल रहा प्रदर्शन कोरोना वायरस के खतरे और लॉकडाउन के चलते फिलहाल स्थगित कर दिया गया।लेकिन यहां महिलाओं ने सांकेतिक तौर पर अपने दुपट्टे घंटाघर पर ही छोड़ दिए और ये संदेश दिया कि हालात सामान्य होने के बाद यहां फिर प्रदर्शन किया जाएगा।

मुंबई का शाहीनबाग भी खाली

इतना ही नहीं महाराष्ट्र में भी कोरोना के बढ़ते खतरे को देखते हुए नागपाड़ा में 55 दिन तक चला धरना प्रदर्शनकारियों ने बीते रविवार को खुद ही निलंबित कर दिया और जगह को खाली कर दिया था। यहां भी प्रदर्शनकारियों ने हालात सामान्य होने के बाद लौटने की बात कही है।

You may also like...