कोरोना अपडेट: पटना पुलिस ने मस्जिद में छिपे 12 संदिग्धों को हिरासत में लिया, सभी संदिग्धों को एम्स भेजा गया

देश में कोरोना खतरे और लॉकडाउन को देखते हुए हर कोई सतर्क और चौकन्ना है। कोरोना को रोकने की कोशिशों के बीच बिहार पुलिस ने कार्रवाई करते हुए पटना के क़ुर्ज़ी इलाके से 12 संदिग्धों को हिरासत में ले लिया।

बताया जा रहा है कि 10 विदेशी इसी साल जनवरी से इस इलाके के एक मस्ज़िद में छुपे हुए थे। जब स्थानीय लोगों को इस बात की जानकारी हुई तो उन्होंने इसका विरोध किया । पटना पुलिस के मुताबिक किर्गिस्तान से आए 10 धार्मिक उपदेशक और यूपी से आए दो लोगों को हिरासत में लिया गया।

पटना में पुलिस के मुताबिक किर्गिस्तान के 10 नागरिकों और दो भारतीयों को कोरोना वायरस से संक्रमित होने का संदिग्ध मानते हुए पकड़ा गया। संदिग्धों के नमूने जांच के लिए एम्स भेजे गए हैं।

किर्गिस्तान के रहने वाले हैं संदिग्ध

दरअसल, स्थानीय लोगों ने पुलिस को कुर्जी मोहल्ला के मस्जिद में विदेशियों के होने की खबर दी थी। कोरोना वायरस के बढ़ते खतरे और इलाके में विदेशियों के रुकने को लेकर लोग दहशत में थे। स्थानीय लोगों ने जब पुलिस को खबर दी तो पुलिस के हाथ पैर फूल गए । आनन-फानन में कुर्जी इलाके से सभी संदिग्धों को हिरासत में ले लिया और जांच के लिये एम्स भेज दिया।

वीडियो देखें

वीडियो देखें

पुलिस के मुताबिक धर्म प्रचार के लिये किर्गिस्तान से आए लोग जनवरी में भारत आए थे। चार मार्च को सभी पटना पहुंचे। अलग-अलग जगहों पर रहने के बाद ये लोग कुर्जी स्थित मस्जिद में आए थे। पुलिस ने इन सभी का पासपोर्ट व वीजा चेक किया। पटना पहुंचने से पहले सभी संदिग्ध मुंबई और दिल्ली में ठहरे थे। फिर वहां से ये लोग पटना पहुंचे। फुलवारीशरीफ समेत कई जगहों पर ये विदेशी लोग अपने धर्म का प्रचार भी कर चुके हैं।

बिहार में अभी तक कोरोना के दो मरीज की मौत हो चुकी है। PMCH में 24 घंटे में कोरोना के संदिग्ध 13 नए मरीज भर्ती हुए हैं। पटना एम्स का ओपीडी अनिश्चितकाल के लिए बंद कर दिया गया है। यहां सिर्फ इमरजेंसी मरीजों का ही इलाज किया जा रहा है।

You may also like...