झारखंड के पूर्व मंत्री की बढ़ी मुश्किलें, मनी लॉन्ड्रिंग मामले में 7 साल की सजा, 2 करोड़ का जुर्माना

झारखंड के पूर्व मंत्री एनोस एक्का पहले ही उम्रकैद की सजा काट रहे अब उन्हें मनी लॉन्ड्रिंग मामले में 7 साल की सजा, 2 करोड़ रुपये का जुर्माना लगाया गया है। मनी लॉन्ड्रिंग मामले में गुरुवार को ईडी की विशेष अदालत ने प्रदेश के पूर्व मंत्री एनोस एक्का को सजा सुनायी है। जुर्माना नहीं भरने की स्थिति में उन्हें और एक साल की सजा काटनी होगी।

पारा टीचर की हत्या, आय से अधिक संपत्ति मामले में काट रहे हैं सजा

एनोस एक्का फिलहाल पारा टीचर की हत्या और आय से अधिक संपत्ति के मामले में सजा काट रहे हैं। एनोस एक्का पर साल 2014 में सिमडेगा के एक पारा शिक्षक मनोज कुमार को उनके स्कूल से अगवा कर हत्‍या करने का दोष साबित हो चुका है।

फ़ाइल फोटो

जब्त होगी एनोस एक्का की अवैध संपत्ति

ईडी की अदालत में एनोस एक्का के खिलाफ 20 करोड़ 31 लाख 77 हजार रुपये के मनी लॉन्ड्रिंग का आरोप है। एनोस एक्का उनकी पत्नी मेनन एक्का समेत परिवार के पांच सदस्य आय से अधिक संपत्ति मामले में होटवार जेल में सात साल की सजा काट रहे हैं। अदालत ने अपने फैसले में कहा है कि एनोस एक्का की अवैध संपत्ति को भी जब्त किया जाएगा। आपको बता दें कि 21 मार्च को अदालत ने एनोस एक्का को दोषी करार दिया था

लॉकडाउन की वजह से टल रही थी सुनवाई

ईडी के विशेष जज एके मिश्रा वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के जरिये आय से अधिक संपत्ति मामले में सजा सुनाई।सजा पर सुनवाई के लिए पहले 31 मार्च की तारीख तय की गई थी। लेकिन इसी दौरान कोरोना महामारी को लेकर देश में लॉकडाउन लग गया। जिसकी वजह से निर्धारित तारीख को सुनवाई नहीं हो सकी। नई तारीख 15 अप्रैल तय की गई थी लेकिन उस दिन भी सुनवाई नहीं हो सकी। अब उन्हें वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के जरिए सजा सुनाई गई है।

You may also like...