जम्मू-कश्मीर में 16 सर्विसेज पर पाबंदी नहीं, लॉकडाउन में सोशल डिस्टेंसिंग पर जोर

केद्र शासित प्रदेश जम्मू-कश्मीर में 16 जॉब्स को इमरजेंसी सर्विस के दायरे में रखा गया है। लॉकडाउन के दौरान इनकी सेवा पर किसी तरह की पाबंदी नहीं होगी। जम्मू-कश्मीर में कोरोना वायरस के बढ़ते मामलों को ध्यान में रखकर 22 मार्च रात 8 बजे से 31 मार्च शाम 6 बजे तक सभी संस्थान को लॉकडाउन कर दिया गया है लेकिन इस दौरान essential commodities/ services पहले की तरह चालू रहेगा।

जम्मू-कश्मीर प्रशासन ने कोरोना वायरस के बढ़ते मामलों पर रोक के लिए एतिहातन हर कदम उठाएं हैं। सोशल डिस्टेंसिंग के मद्देनजर नजर लॉकडाउन किया है लेकिन लोगों को परेशानी ना हो इसके लिए आवश्यक सर्विसेज लिस्ट जारी किया है।

एसेंशियल सर्विसेज लिस्ट

अनाजों की सप्लाई (थोक और खुदरा विक्रेताओं ) के दुकान खुलेंगे। ताजे फलों और सब्जियों की मंडियां और खुदरा विक्रेता पर रोक नहीं होगी। दूध और डेयरी फार्म पहले की तरह खुले रहेंगे। दवा की दुकानें खुली रहेंगी। पेट्रोल और डीजल के पंप खुले रहेंगे। साथ ही मवेशी चारा और चारे की आपूर्ति पहले की तरह जारी रहेगा। बैंक और एटीएम आवश्यक वस्तु की सूची में है। एलपीजी डोमेस्टिक एंड कॉमर्शियल सिलेंडर की आपूर्ति जारी रहेगी। स्वास्थ्य सेवाएं (कर्मचारियों की आवाजाही सहित) पहले की तरह काम करेंगे। टेलीकॉम आपरेटर और एजेंसी पर कोई रोक नहीं हैं। ये आवश्यक सेवाएं है इस पर कोई पाबंदी नहीं होगी।

इसके अलावा न्यूजपेपर, पोस्ट ऑफिस,FCI के गोदाम में चावल और गेहूं की लोडिंग और अनलोडिंग और नेशनल हाईवे और स्टेट हाईवे पर दूध, फल, अनाज, पेट्रोलियम पदार्थों (पेट्रोल, केरोसिन ऑयल) के ट्रांसपोर्टेशन पर कोई रोक नहीं है। इस बीच केंद्र शासित प्रदेश जम्मू-कश्मीर में सोशल डिस्टेंसिंग पर जोर दिया जा रहा है। लोगों से घर में रहने की अपील की जा रही है।

You may also like...