चीन के खिलाफ सबसे बड़ा एक्शन प्लान, मॉस्को से ‘महाबली’ लाने के लिए रूस रवाना हुए रक्षा मंत्री!

चीन के खिलाफ हिंदुस्तान को जल्द मिलने वाला एक ऐसा महायोद्धा। जो किसी भी जंग के नतीजे बदल सकता है। इस ब्रह्मास्त्र को चीन की खूनी गुस्ताखी का जवाब माना जा रहा है। भारत जल्द ही रूस से S-400 एयर डिफेंस मिसाइल सिस्टम को जल्द से जल्द हासिल करने की पहल शुरू करने जा रहा है। रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह रूस के तीन दिवसीय दौरे पर रवाना हो चुके हैं। माना जा रहा है कि इस दौरे पर भारत रूस से जल्द ही इस महायोद्धा S-400 देने की बात रख सकता है।

S-400 से दुश्मन होगा राख

रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह हिंदुस्तान के पुराने दोस्त रूस की यात्रा पर हैं। इस यात्रा का मकसद तो रूस की विक्ट्री डे परेड में शिरकत करना है लेकिन असली मकसद है एस 400 की डील। माना जा रहा है कि रूस की यात्रा के दौरान राजनाथ सिंह हिंदुस्तान के इस महारक्षक और महाविध्वंसक एंटी मिसाइल सिस्टम एस 400 की प्री डिलीवरी की मांग रख सकते हैं।

5 अरब डॉलर में हुआ है करार

आपको बता दें कि एस-400 को लेकर भारत ने रूस के साथ 2018 में ही 5 अरब डॉलर से ज्यादा की कीमत का समझौता किया था। भारत ने पिछले साल ही मिसाइल डिफेंस सिस्टम के लिए एडवांस राशि दे भी दी है। हालांकि चीन पहले ही S-400 ऐंटी मिसाइल सिस्टम अपने बेड़े में शामिल कर चुका है। लेकिन अब बारी है भारत की जो S-400 से चीन को जवाब देने की तैयारी कर चुका है।

सुखोई-30MKI पर भी हो सकती है बात

भारत हर मोर्चे पर अब चीन की घेराबंदी कर रहा है। तमाम पेंडिंग पड़ी खरीदारी को तेज कर दिया गया है इसके अलावा साजो-सामान के भंडार को बढ़ाया जा रहा है। भारत रूस से एस 400 के अलावा समझौते के तहत लड़ाकू विमान सुखोई और मिग बेड़े के कलपुर्जे जल्दी से उपलब्ध कराने को भी कह सकता है।

मॉस्को में तैयार होगा चीन के खिलाफ एक्शन प्लान

लद्दाख में चीन की खूनी साजिश के बाद भारत ने अपनी डिफेंस की जरूरतों को जल्द से जल्द पूरा करने की कोशिश शुरू कर दी है। तरकश में घातक और मारक हथियार बढ़ाए जा रहे हैं। पुरानी दोस्ती का हवाला देकर भारत रूस से समर्थन भी चाहता है। आपको बता दें कि 1972 में तत्कालीन प्रधानमंत्री इंदिरा गांधी ने रूस का दौरा किया था। उसके अगले दिन पाकिस्तान का खिलाफ युद्ध का ऐलान हो गया था। ऐसे में अटकलें तेज हैं कि राजनाथ सिंह की रूस यात्रा के बाद चीन के खिलाफ कोई बड़ा एक्शन हो सकता है।

You may also like...