जेल जाएंगे टीवी पत्रकार अर्नब गोस्वामी ? कांग्रेस ने दर्ज कराया केस

टीवी पत्रकार और रिपब्लिक चैनल के फाउंडर सदस्य अर्नब गोस्वामी को राहुल गांधी और सोनिया गांधी के खिलाफ टिप्पणी करना महंगा पड़ सकता है छत्तीसगढ़ कांग्रेस ने रिपब्लिक भारत टीवी के प्रमुख एंकर अर्नब गोस्वामी के खिलाफ रायपुर के सिविल लाइन थाने में एक शिकायत दी है जिसमें कहा गया है कि पत्रकारिता के नियम कायदों को ताक पर रखकर अर्नब गोस्वामी ने राहुल गांधी की पत्रकार वार्ता को गलत ढंग से प्रस्तुत किया.

अर्नब गोस्वामी पर FIR !

कांग्रेस ने आरोप लगाया है कि टीवी पत्रकार अर्नब गोस्वामी ने कोरोना महामारी के दौरान देश के लोगों को गुमराह किया इसलिए उनके खिलाफ आईपीसी की धारा 153 बी, 188,  290, 500, 504 और 505 के साथ-साथ डिजास्टर मैनेजमेंट एक्ट के तहत मामला दर्ज किया जाय. मीडिया रिपोर्टस के मुताबिक कांग्रेस की इस शिकायत को जल्द ही रोजनामचे में दर्ज कर लिया जाएगा और अर्नब गोस्वामी की गिरफ्तारी के लिए पुलिस की टीम छत्तीसगढ़ से दिल्ली भी रवाना होगी.

क्या है पूरा मामला ?

दरअसल 16 अप्रैल को राहुल गांधी ने कोरोना बीमारी पर पत्रकारों के सवालों का जवाब देने के लिए वीडियो क्रॉन्फ्रेंसिंग के जरिए एक प्रेस कॉन्फ्रेंस की थी जिसमें राहुल ने सरकार को डब्ल्यूएचओ की सलाह मानने की हिदायत देते हुए टेस्टिंग बढ़ाने की सलाह दी थी ताकि कोरोना के फैलाव का सही आंकलन कर उसे रोका जा सके. राहुल ने ये भी कहा था कि लॉकडाउन किसी पॉज बटन की तरह है और इससे समस्या खत्म नहीं होगी.

कांग्रेस नेता राहुल गांधी ने गरीबों के खाते में सीधे धन जमा किए जाने की जरूरत पर भी बल दिया था और प्रवासी मजदूरों का मुद्दा भी उठाया था, कांग्रेस का आरोप है कि अर्नब गोस्वामी ने राहुल गांधी की इस खबर को सही ढंग से प्रस्तुत करने के बजाए अपने टीवी शो में  जानबूझकर पूरी पत्रकार वार्ता को गलत तरीके से प्रस्तुत किया और कोरोना महामारी के खिलाफ लड़ाई में देश के लोगों को गुमराह किया.

अर्नब पर कांग्रेस के आरोप

कांग्रेस का आरोप है कि अर्नब गोस्वामी ने अपने कार्यक्रम में यह बताया कि राहुल गांधी का टेस्ट बढ़ाने का सुझाव पूरी तरीके से गलत है. कांग्रेस का ये आरोप है कि अगर लोग अर्नब गोस्वामी और उनके टीवी चैनलों पर भरोसा करके टेस्टिंग को अनावश्यक समझ लेंगे तो इससे देश के करोड़ों लोगों के स्वास्थ्य पर बुरा प्रभाव पड़ेगा.

अर्नब पर गहलोत भी भड़के

उधर एक दूसरे मामले में राजस्थान के मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने भी एडिटर्स गिल्ड ऑफ इंडिया से अर्नब गोस्वामी के खिलाफ कार्रवाई की मांग की है, अशोक गहलोत ने अर्नब गोस्वामी पर आरोप लगाया है कि उन्होंने अपने शो में सोनिया गांधी के खिलाफ जिन शब्दों का इस्तेमाल किया वो घोर निंदनीय है. दरअसल अर्नब रिपब्लिक टीवी के एक शो के दौरान पालघर में हुई संतो की हत्या पर बहस कर रहे थे जिसमें उन्होंने इस घटना पर चुप्पी साधने वालों पर हमला किया . इस शो में अर्नब ने सोनिया गांधी के लिए जिस भाषा का इस्तेमाल किया अशोक गहलोत ने उस पर आपत्ति जताई और अर्नब गोस्वामी पर पत्रकारिता की सभी मर्यादाओं को लांघने का आरोप लगाया. अशोक गहलोत ने यहां तक कहा कि अर्नब ने जो कुछ जिस लहजे में कहा उस पर उन्हें शर्म आनी चाहिए.

एडिटर गिल्ड से अर्नब का इस्तीफा

इससे पहले एक लाइव शो के दौरान रिपब्लिक टीवी के संस्थापक सदस्य और पत्रकार अर्णब गोस्वमी ने एडिटर्स गिल्ड ऑफ इंडिया से इस्तीफा दे दिया , अर्नब ने वरिष्ठ पत्रकार शेखर गुप्ता पर साख गिराने का आरोप मढ़ा। उन्होंने कहा कि शेखर गुप्ता ने COVID-19 के दौरान फर्जी खबरों के खिलाफ चुप्पी साधकर एडिटर्स गिल्ड ऑफ इंडिया की विश्वसनीयता को बर्बाद किया है।

You may also like...