मांगे 1 लाख करोड़ मिले 1 हजार करोड़, पीएम मोदी पर फिर भड़की ‘दीदी’

पश्चिम बंगाल की ममता सरकार और केन्द्र की मोदी सरकार के बीच टकराव कम होने का नाम नहीं ले रहा है. अब अम्फान तूफान से हुए बड़े नुकसान के बाद केन्द्र की छोटी सी मदद पर मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने नाखुशी जाहिर की है.

पीएम मोदी पर भड़कीं ममता

अम्फान तूफान से तबाही के बाद पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी के आग्रह पर प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने आज पश्चिम बंगाल के कई जिलों का हवाई दौरा किया और तूफान से हुई बर्बादी को अपनी आंखों से देखा. इसके बाद मोदी ने राज्य सरकार को तुरंत एक हजार करोड़ के पैकेज का एलान किया, पीएम मोदी के इस एलान के बाद मुख्यमंत्री ममता बनर्जी बिफर गईं उनका कहना है कि नुकसान 1 लाख करोड़ का हुआ और पैकेज सिर्फ एक हजार करोड़ का दिया जा रहा है.

क्या बोलीं ममता बनर्जी ?

ममता बनर्जी ने कहा कि पीएम मोदी ने एक हजार करोड़ के राहत पैकेज का एलान जरुर किया लेकिन इससे जुड़ी कोई जानकारी नहीं दी मसलन ये पैसा कब मिलेगा या फिर ये सिर्फ अग्रिम धनराशि है? मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने कहा कि सदी के सबसे बड़े तूफान के कारण एक लाख करोड़ का नुकसान हुआ है और 56 हजार करोड़ रूपया तो हमारा केन्द्र पर ही बकाया है.

केन्द्र सरकार भेजेगी टीम

पीएम मोदी ने हवाई सर्वेक्षण करने के बाद एक प्रेस कॉन्फ्रेंस की जिसमें उन्होंने कहा कि-‘ मैं पश्चिम बंगाल के अपने भाई बहनों को विश्वास दिलाता हूं कि पूरा देश उनके साथ है, जल्दी ही केन्द्र की एक टीम भेजी जाएगी जो अम्फान से हुए नुकसान की विस्तृत रिपोर्ट पेश करेगी‘. प्रधानमंत्री ने कहा कि तूफान से कम से कम नुकसान हो इसके लिए राज्य और केन्द्र सरकार दोनों ने काफी कोशिश की लेकिन हम 80 लोगों का जीवन नहीं बचा पाए जिसका हमें दुख है. मोदी ने कहा कि तूफान ने जिसे उजाड़ा संकट की इस घड़ी में सरकार सबके साथ खड़ी है.

283 साल का सबसे ताकतवर तूफान

अम्फान तूफान ने बंगाल की सूरत बिगाड़कर रख दी है हर तरफ तबाही और बर्बादी का मंजर नजर आ रहा है कितना नुकसान हुआ है इसे पूरी तरह से आंकने के लिए भी सरकार को कम से कम 2-3 दिन अभी और लगेंगे. खुद ममता बनर्जी ने इसे कोरोना से भी खतरनाक बताया है साथ ही उन्होंने ये भी कहा है कि ये किसी युद्ध के लड़ने जैसा है. दरअसल अम्फान बंगाल में 283 सालों के बाद आया सबसे भीषण तूफान रहा इससे पहले 1737 में ग्रेट बंगाल साइक्लोन में 3 लाख लोग मारे गए थे.

You may also like...