किम जोंग की हालत ‘बेहद गंभीर’ ! उत्तर कोरिया से बहुत बड़ी ख़बर

दुनिया में कोरोना के कोहराम के बीच नॉर्थ कोरिया के सनकी तानाशाह शासक किम जोंग के गंभीर रूप से बीमार होने की खबरें सुर्खियों में छाई हुई हैं. अमेरिकी मीडिया रिपोर्टस के मुताबिक किम जोंग उन गंभीर रुप से बीमार हो गये हैं.

किम के ब्रेन डेड होने की आशंका

बताया जा रहा है कि उत्तर कोरिया के तानाशाह शासक किम जोंग इन दिनों जिंदगी और मौत से जूझ रहे हैं खबरों के मुताबिक किम कार्डियोवस्कलर की समस्या से जूझ रहे थे और उनका इलाज़ चल रहा था अमेरिकी टीवी चैनल सीएनएन की रिपोर्ट के मुताबिक किम जोंग की सर्जरी की गई जिसके बाद से उनकी हालत और बिगड़ गई. कुछ रिपोर्ट में तो किम के ब्रेन डेड होने की बातें भी सामने आ रही हैं.

ख़तरे में किम की जान

खबरों के मुताबिक किम जोंग की जान को गंभीर खतरा है सीएनएन ने बताया है कि किम जोंग की तबीयत पिछले कुछ दिनों से खराब चल रही थी. दक्षिण कोरिया की एक ऑनलाइन साइट जो उत्तर कोरिया की खबरें देती है उसके मुताबिक 12 अप्रैल को किम जोंग दिल और रक्तवाहिकाओं संबंधी प्रक्रिया से गुजरे और उनकी सर्जरी इसलिए करनी पड़ी क्योंकि वो बहुत ज्यादा स्मोकिंग करते हैं साथ ही उन्हें मोटापे की बीमारी भी है. इस ऑनलाइन साइट में ये भी बताया है कि उनका ह्यानसांग काउंटी में इलाज चल रहा है.

हालांकि किम के ब्रेन डेड होने की खबरों पर अभी अमेरिकी अधिकारियों ने कोई टिप्‍पणी नहीं दी है। उधर, खुफिया रिपोर्ट्स के मुताबिक उत्‍तर कोरिया से सही सूचनाओं का आना बहुत मुश्किल है। किम जोंग उन की उत्‍तर कोरिया में किसी भगवान की तरह से पूजा होती है,  इसलिए उनके बारे में बहुत मुश्किल से सूचनाएं मिल पा रही हैं। उत्तर कोरिया में प्रेस को किसी तरह की आज़ादी नहीं है। इसलिए वहां वही छपता या दिखाई देता है जो सरकार चाहती है। 

11 अप्रैल को आखिरी बार देखा गया

किम जोंग उन को 11 अप्रैल को अंतिम बार देखा गया था। यही नहीं किम जोंग अपने दादा के जन्‍मदिन पर होने वाले कार्यक्रम में भी 15 अप्रैल को दिखाई नहीं दिए थे। जिससे बाद से ही उनके स्वास्थ्य को लेकर चिंता जताई जाने लगी.  हालांकि इससे चार दिन पहले वो एक सरकारी बैठक के दौरान जरूर दिखाई दिए थे।


दादा के जन्मदिन पर नहीं दिखे

15 अप्रैल को उत्तर कोरिया का बहुत महत्वपूर्ण त्योहार था,  क्योंकि इसी दिन देश के संस्थापक किम 2 सुंग का जन्मदिन होता है लेकिन हर साल की इस साल इस खास मौके पर ना तो किम नजर आए ना ही उनकी तरफ से कोई संदेश दिया गया। विशेषज्ञ इस बात को लेकर चिंतित हैं कि आखिर अपने दादा के जन्मोत्सव पर किम क्यों नजर नहीं आए। दरअसल इससे पहले अगर ऐसे मौकों पर उत्‍तर कोरियाई शासक दिखाई नहीं देते थे तो माना जाता था कि कुछ बड़ा हुआ है।

You may also like...