पिता के निधन की खबर से भी विचलित नहीं हुए योगी, बैठक के बाद लिखी भावुक चिट्ठी

उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ के लिए सोमवार की सुबह बुरी खबर लेकर आई, योगी आदित्यनाथ के पिता आनंद सिंह बिष्ट का दिल्ली के एम्स अस्पताल में निधन हो गया आज सुबह करीब 10.30 बजे उन्होंने आखिरी सांस ली. उनकी हालत कुछ दिनों से गंभीर थी और उन्हें वेटिंलेटर पर रखा गया था.

बीच मीटिंग में मिली जानकारी

योगी को जब पिता के निधन की खबर मिली तो उस वक्त वो लखनऊ में अपनी कोर टीम के साथ लॉकडाउन में ढील और आगे की कार्रवाई को लेकर मीटिंग कर रहे कर रहे थे बताया जा रहा है कि जब योगी को पिता के निधन की दुखद खबर दी गई तो भी उन्होंने मीटिंग नहीं छोड़ी और अधिकारियों को जरूरी निर्देश देते रहे.

योगी ने लिखा भावुक खत

योगी ने अपने पिता की मौत के बाद भावुक खत लिखा जिसमें उन्होंने अपने पिता को श्रद्धांजलि देते हुए लिखा है कि पिता के दर्शन की अंतिम इच्छा थी लेकिन कोरोना महामारी के चलते अपने फर्ज के कारण वो ऐसा नहीं कर पाए. योगी ने ये भी लिखा कि वो 21 अप्रैल को होने वाले अंतिम संस्कार में भी शामिल नहीं हो पाएंगे लेकिन लॉकडाउन हटने के बाद वो घर जरूर जाएंगे. उन्होंने अपने घरवालों से ये भी अपील की कि कोरोना के खतरे को देखते हुए कम से कम लोग अंतिम संस्कार में जाएं.

मायावती और राज्यपाल ने दी श्रद्धांजलि

उत्तर प्रदेश की राज्यपाल आनंदी बेन पटेल ने मुख्यमंत्री योगी के पिता के निधन पर गहरा दुख व्यक्त किया है वहीं बहुजन समाज पार्टी की प्रमुख मायावती समेत तमाम नेताओँ ने भी योगी आदित्यनाथ के पिता के निधन पर दुख जताते हुए परिवार के प्रति संवेदना व्यक्त की है.

आईसीयू में भर्ती थे योगी के पिता
योगी के पिता आनंद सिंह बिष्ट की उम्र करीब 89 साल थी और वो पिछले कुछ दिनों काफी बीमार थे डॉक्टरों के मुताबिक उन्हें किडनी और लिवर की समस्या थी और उनका लगातार डायलिसिस भी किया जा रहा था हालांकि उनकी तबीयत कल रात से ही ज्यादा खराब हो गई थी जिसके बाद उनका इलाज कर रहे डॉक्टरों ने भी जवाब दे दिया था.

पैतृक गांव ले जाने से पहले देहांत

योगी के पिता को एयर एंबुलेंस से उनके पृतक गांव ले जाने की तैयारी चल रही थी लेकिन इसी बीच उनका निधन हो गया, एम्स में भर्ती आनंद सिंह बिष्‍ट को देखने रविवार रात बीजेपी अध्‍यक्ष जेपी नड्डा, गृह मंत्री अमित शाह और पार्टी के संगठन महासचिव बीएल संतोष पहुंचे थे कल रात ही उनकी तबीयत अचानक बिगड़ गई थी। इसके बाद उन्‍हें लाइफ सपोर्ट सिस्‍टम पर रखा गया था।।

बचपन में ही छूटा था परिवार का साथ
योगी के पिता आनंद सिंह बिष्‍ट फॉरेस्‍ट रेंजर थे और उत्तराखंड में यमकेश्‍वर के पंचूर गांव में रहते थे। योगी के बचपन का नाम अजय सिंह बिष्‍ट है। वह बचपन में ही परिवार को छोड़कर गोरखपुर में गोरक्षनाथ पीठ के  महंत अवेद्यनाथ के पास चले गए थे। महंत अवेद्यनाथ के महापरिनिर्वाण के बाद योगी आदित्‍यनाथ को गोरक्षपीठ का प्रमुख बनाया गया था.

You may also like...