खुशखबरी: 1 जून से चलेंगी 200 नॉन एसी ट्रेन, जल्द शुरू होगी बुकिंग

लॉकडाउन के इस दौर में जो लोग दूसरे शहरों में फंसे हैं और अपने घर लौटने का बेसब्री से इंतजार कर रहे हैं उन्हें रेल मंत्री पीयूष गोयल के एक ट्वीट के बाद थोड़ी राहत मिली है. गरीब मजदूरों के लिए श्रमिक स्पेशल ट्रेन और एलीट क्लास के लिए राजधानी स्पेशल ट्रेन चलाने के बाद अब रेलवे देश भर में मेल और एक्सप्रेस ट्रेनें भी चलाएगी.

200 स्पेशल ट्रेन चलेंगी

रेलमंत्री पीयूष गोयल ने खुद ट्वीट करके जानकारी दी है कि 1 जून से हर रोज 200 स्पेशल ट्रेनें चलाई जाएंगी लेकिन ये ट्रेनें नॉन एसी होंगी मतलब इनमें एसी कोच नहीं होंगे. खबरों के मुताबिक इन ट्रेनों की सख्या बाद में बढ़ाई भी जाएगी.

वेटिंग टिकट मिलेगा

रेलमंत्री ने अपने ट्वीट में साफ किया है कि ये स्पेशल ट्रेनें अपने टाइम टेबल के हिसाब से चलेंगी। इन गाड़ियों में वेटिंग टिकट भी काटा जा सकता है लेकिन तत्काल या फिर प्रीमियम तत्काल जैसी व्यवस्था नहीं होगी। इन ट्रेनों की बुकिंग भी आईआरसीटीसी की वेबसाइट के जरिए ही होगी। बुकिंग किस दिन से शुरू होगी, इसका एलान भी आज कल में कर दिया जाएगा.

किस तरह की ट्रेन होगी

खबरों के मुताबिक श्रमिक और राजधानी स्पेशल की तर्ज पर ही ये मेल एक्सप्रेस स्पेशल ट्रेन होंगी जिनमे  जन शताब्दी स्पेशल और इंटर सिटी स्पेशल ट्रेन भी शामिल हो सकती है। मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक स्लीपर क्लास में वेटिंग लिस्ट में 200 टिकट काटे जा सकते हैं। रेल मंत्री पीयूष गोयल के मुताबिक इन ट्रेनों में बुकिंग कब शुरू होगी इसकी जानकारी बाद में दी जाएगी। ये ट्रेन किस मार्ग पर चलेंगी, इसकी घोषणा भी बाद में की जाएगी।

रेलवे की अपील-धैर्य रखें श्रमिक

रेल मंत्रालय ने कहा कि भारतीय रेल अपील करती है कि श्रमिक धैर्य रखें और जहां हैं अभी वहीं रहें भारतीय रेल श्रमिकों को उनके घर तक पहुंचाने की पूरी व्यवस्था कर रहा है. इससे पहले रेलवे ने 12 मई से ही 15 जोड़ी राजधानी स्पेशल ट्रेनें चलाना शुरू किया है, जिनमें नई दिल्ली से डिब्रूगढ़, अगरतला, हावड़ा, पटना, बिलासपुर, रांची, भुवनेश्वर, सिकंदराबाद, बेंगलुरु, चेन्नई, तिरुवनंतपुरम, मडगांव, मुंबई सेंट्रल, अहमदाबाद और जम्मू-तवी तक जाने वाली राजधानी स्पेशल ट्रेन शामिल है।

अब तक 21 लाख लोगों को पहुंचाया

रेल मंत्री गोयल के मुताबिक , रेलवे ने 19 दिनों में श्रमिक स्पेशल ट्रेनों के जरिए करीब 21 लाख लोगों को उनके राज्य तक पहुंचाया है उन्होंने राज्य सरकारों के अपील की है कि वह प्रवासी मजदूरों का रजिस्ट्रेशन करें और इसकी लिस्ट रेलवे को दें, रेल मंत्री ने कहा कहा कि श्रमिक स्पेशल ट्रेनों की संख्या भी बढ़ाई जाएगी.

You may also like...