कालापानी विवाद में नेपाल के साथ आईं मनीषा कोइराला, एक्ट्रेस के ट्वीट पर मचा घमासान

पिछले कुछ समय से भारत और नेपाल के बीच सीमा विवाद गहराया है. ये विवाद कालापानी और लिपुलेख को लेकर है. नवंबर 2019 में, भारत के गृह मंत्रालय द्वारा जारी किए गए एक नए नक्शे में कालापानी क्षेत्र को शामिल किया गया था जिस पर नेपाल अपना दावा करता रहा है. अब नेपाल ने एक नया नक्शा जारी कर लिंपियाधुरा, लिपुलेख और कालापानी में से 2 क्षेत्रों को अपने नक्शे में दिखाया है जिसका एक्ट्रेस मनीषा कोईराला ने समर्थन किया है.

मनीषा ने क्या कहा?

मनीषा के जिस ट्वीट पर विवाद हो रहा है उसमें उन्होंने नेपाली सरकार को धन्यवाद दिया है साथ ही भारत, नेपाल और चीन का जिक्र करते हुए तीनों देशों के बीच शांतिपूर्ण और सम्मानजनक बातचीत की उम्मीद जताई है. मनीषा कोईराला ने नेपाल के विदेश मंत्री के ट्वीट का जवाब देते हुए लिखा है कि- ‘हमारे छोटे से देश का गौरव रखने के लिए शुक्रिया. मैं सभी तीन महान देशों के बीच शांतिपूर्ण और सम्मानजनक बातचीत की उम्मीद करती हूं.’

ट्विटर पर कमेंट की बारिश

गौरतलब है कि बॉलीवुड एक्टेस मनीषा कोईराला नेपाल की मूल निवासी है वहीं मनीषा का नेपाल के समर्थन में ट्वीट उनके फैंस को पसंद नहीं आया और उन्होंने मनीषा के बहाने नेपाल को उलाहना दिया, कुछ ने नेपाल को चीन से सतर्क रहने की सलाह दी तो किसी ने मनीषा कोईराला पर निशाना साधा. वहीं कुछ लोग मनीषा के समर्थन में भी दिखे.

क्या है पूरा मामला?

दरअसल इस पूरे विवाद की शुरुआत साल 1816 में हुई थी तब ब्रिटिश शासन के हाथों नेपाल के राजा कई इलाके हार गए थे जिनमें लिपुलेख और कालापानी भी शामिल थे. इसके बाद से नेपाल और भारत आपसी बातचीत से सीमा विवाद का हल करने की पैरवी करते आए हैं लेकिन अब नेपाल के रुख में जो नाटकीय बदलाव आया है वो जाहिर करता है कि चीन ने नेपाल पर अपना असर दिखाना शुरू कर दिया है.

चीन की भाषा बोल रहा नेपाल

नेपाल ने अब चांगरू में कालापानी के पास आर्म्ड पुलिस फोर्स का आउटपोस्ट बनाया है इतना ही नहीं रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह ने जब हाल ही में कैलाश मानसरोवर जाने के लिए 80 किलोमीटर लम्बी सड़क का उद्घाटन किया था जो लिपुलेख दर्रे पर समाप्त होती है तो उस पर भी नेपाल सरकार ने आपत्ति जताई गई थी.

You may also like...