कोरोना वायरस की वजह से रविवार को लगेगा जनता कर्फ्यू, घर से ना निकलें बाहर

देश में कोरोना वायरस को फैलने से रोकने के लिए हर वो कदम उठाया जा रहा है जिससे मौत का वायरस हिंदुस्तान को अपनी चपेट में ना ले सके। केंद्र सरकार मुश्किल के इस घड़ी में लोगों का साथ मांग रही है ताकि भारत को कोरोना खतरे से बचाया जा सके।

22 मार्च को जनता कर्फ्यू

प्रधानमंत्री मोदी ने जनता से अपील की है कि जरूरत पड़ने पर ही वो अपने घरों से बाहर निकलें। पीएम ने कहा कि 22 मार्च रविवार के दिन लोग जनता कर्फ्यू लगाएं। कोरोना वायरस के खिलाफ एकजुटता दिखाते हुए अपने-अपने घरों से बाहर ना निकले। जरूरी हो तभी घरों से बाहर निकलें। 22 मार्च को जनता कर्फ्यू लगाएं।

कोरोना वायरस को लेकर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने गुरुवार रात देश को संबोधित किया। प्रधानमंत्री मोदी ने कहा कि ‘कोरोना वायरस का संकट ऐसा है, जिसने दुनिया भर में पूरी मानवजाति को संकट में डाल दिया है।’ उन्‍होंने कहा कि 130 करोड़ नागरिकों ने कोरोना वैश्विक महामारी का डटकर मुकाबला किया है।

पीएम ने अपील करते हुए कहा है कि अगर संभव हो तो हर शख्स हर दिन कम से कम 10 लोगों को फोन करके कोरोना वायरस के खतरे और बचाव के उपाय को बताए। साथ ही पीएम मोदी ने अपील करते हुए कहा कि रविवार को ठीक 5 बजे हम अपने घर के दरवाजे पर खड़े होकर 5 मिनट तक ऐसे लोगों का आभार व्यक्त करें जो कोरोना वायरस के खिलाफ लड़ाई लड़ रहे हैं। पीएम ने अस्‍पतालों पर दबाव का जिक्र करते हुए लोगों से कहा कि वे रूटीन चेक-अप के लिए अस्पताल जाने से जितना बच सकते हैं, उतना बचें।

प्रधानमंत्री मोदी ने कहा कि 60 से ज्यादा उम्र के लोग घरों से बिल्कुल बाहर ना निकले। साथ ही पीएम ने लोगों से अपील की है कि देश में अफरा तफरी का माहौल ना बनाएं। राशन और जरूरी चीजों को जमा करने से बचे।

You may also like...