Corona Effect:घरों में कैद स्टूडेंट को ई-लर्निंग ऐप्स का तोहफा- अब घर बैठे फ्री में कर सकेंगे पढ़ाई

कोरोना के कारण देश में स्कूल कॉलेज बंद कर दिए गये हैं ।ऐसे में बच्चों की पढ़ाई काफी प्रभावित हो रही है । इसे देखते हुए कई ई लर्निंग ऐप्स स्टूडेंट की मदद की लिये आगे आए हैं।

फ्री एक्सेस देने का एलान

बच्चों का साल बर्बाद होने से बचाने के लिए बायजूस, टॉपर और वेदांतु जैसे डिजिटल ई-लर्निंग एप्स ने मुफ्त में बच्चों को ऑन लाइन पढ़ाने की सुविधा देने का एलान किया है। जिसके बाद स्कूल-कॉलेज बंद होने के कारण अब घर बैठें स्टूडेंट्स डिजिटल टूल्स की मदद से अपनी पढ़ाई कर सकते हैं।

मदद के लिए आगे आया माइक्रोसॉफ्ट

माइक्रोसॉफ्ट का कहना कि उनकी टीम छात्रों को एक ऐसी ऑनलाइन क्लास की सुविधा देगी जिसे स्टूडेंट मोबाइल, टेबलेट, पीसी पर एक्सेस कर सकेंगे। इसके जरिए बच्चे फेस-टू-फेस कनेक्शन्स,असाइनमेंट,कंर्वसेशन भी आसानी से वर्चुअली कर पाएंगे। डिजिटल प्लेटफॉर्म पर मौजूद सभी कंटेन्ट हर वर्ग के छात्र के लिए उपयोगी साबित होंगे

अप्रैल तक फ्री एक्सेस देगा बायजूस

ऑनलाइन लर्निंग ऐप बायजूस अप्रैल के आखिर तक फ्री एक्सेस देगा । इससे पहली से बारहवीं तक के सभी छात्र बायजूस के लर्निंग प्रोग्राम्स अप्रैल तक फ्री में इस्तेमाल कर पाएंगे। वहीं दुनिया के बड़े ई-लर्निंग प्लेटफॉर्म में से एक कोर्सेरा ने भी जुलाई अंत तक अपने कंटेंट फ्री में उपलब्ध कराने का ऐलान किया है।

अगस्त तक फ्री एक्सेस देगा अव्या स्पेसेस

ग्लोबल कम्यूनिकेटर अव्या होल्डिंग कॉरपोरेशन ने भी अपने सॉफ्टवेयर को देश के बंद हो चुके सभी शिक्षण संस्थानों के लिए अगस्त तक फ्री एक्सेस देने की बात कही है।कंपनी ने कहा है कि अव्या स्पेसेस के जरिए वेब पर सुरक्षित तरीके से लेक्चर्स और स्कूलवर्क किए जा सकते हैं।

यूनेस्को ने जारी की रिपोर्ट

उधर यूनेस्को ने भी अपनी एक रिपोर्ट में बताया है कि कोरोना वायरस के चलते 13 देशों के करीब 29 करोड़ स्टूडेंट्स पर असर पड़ा है, जिससे निपटने के लिए डिस्टेंस लर्निंग प्रोग्राम का सहारा लिया जा रहा है ।

You may also like...