31 मई तक बढ़ा लॉकडाउन, मेट्रो-विमान बंद, राज्यों की इजाजत के बाद शुरु होगी बस सेवा

पूरे देश में लॉकडाउन को दो हफ्तों के लिये बढ़ा दिया गया है अब 31 मई तक पूरा देश कुछ शर्तों के साथ लॉकडाउन में रहेगा, गृहमंत्रालय ने लॉकडाउन 4.0 को लेकर नई गाइडलाइंस जारी कर दी हैं. इसमें दफ्तर, दुकानें बसों को खोलने की इजाजत दी गई है लेकिन शर्तों के साथ.

ये सेवाएं बंद रहेंगी

गृहमंत्रालय की गाइडलाइंस के मुताबिक इस लॉकडाउन में मेट्रो ट्रेन के साथ ही हवाई उड़ानों पर पाबंदी रहेगी. ट्रेन अभी जैसी चल रही हैं वैसी ही चलती रहेंगी. बस सेवा राज्यों के अंदर या फिर दूसरे राज्यों के लिये शुरु की जाय या नहीं इसका फैसला राज्य सरकारें आपसी सहमति से लेंगी. इसके अलावा ऑटी, टैक्सी और रिक्शा भी सीमित ही चलेंगी इस पर अंतिम फैसला राज्य सरकारें अपने हिसाब से करेंगी. हां शर्तों के साथ निजी वाहनों से आवाजाही की इजाजत होगी.

स्कूल-कॉलेज बंद

लॉकडाउन 4.0 में पहले की तरह शापिंग मॉल, सिनेमा, जिम, स्विमिंग पूल, स्पा, स्कूल-कॉलेज बंद रखे जाएंगे. सैलून की दुकान खुले या ना खुले इस पर राज्य सरकार फैसला लेगी. दुकानों को खोलने की इजाजत दी गई है लेकिन इसमें एक बार में सिर्फ पांच लोग ही होंगे. इसके अलावा मिठाई की दुकानें तो खुलेंगी लेकिन उनसे सिर्फ होम डिलीवरी होगी, इसी तरह रेस्टोरेंट से भी सिर्फ होम डिलीवरी होगी.  जबकि होटल और उनके रेस्टोरेंट बंद रहेंगे.

शादी समारोह को इजाजत

शादी समारोह को इजाजत दी गई है लेकिन अधिकतम 50 लोगों की मौजूदगी के साथ. इसी तरह अंतिम संस्कार में पहले की तरह सिर्फ 20 लोग ही शामिल हो पाएंगे. सभी तरह के धार्मिक और राजनीतिक आयोजन फिलहाल रद्द रहेंगे इसके साथ ही सभी तरह के धार्मिक स्थल भी बंद रहेंगे. स्पोर्ट्स कॉम्प्लेक्स और स्टेडियम खुलेंगे लेकिन इनमें दर्शक नहीं होगा.

नाइट कर्फ्यू जारी रहेगा

लॉकडाउन 4.0 में भी नाइट कर्फ्यू जारी रहेगा शाम 7 बजे से सुबह 7 बजे तक किसी को घर से निकलने की इजाजत नहीं होगी. 65 साल के बुजुर्ग और 10 साल से कम उम्र के बच्चों के भी घर से निकलने की मनाही है. पान बीड़ी सिगरेट और गुटखा मिलेगा लेकिन सार्वजनिक स्थानों पर इसे खाने पर रोक बरकरार रहेगी.

राज्यों को मिले जोन तय करने के अधिकार

देश भर में कोरोना के हिसाब से अब 5 जोन बनाए गए हैं. राज्यों और केन्द्र शासित प्रदेशों को अपने यहां कोरोना वायरस के संक्रमण के हालात को देखते हुए रेड, ऑरेंज और ग्रीन जोन बनाने का अधिकार दिया गया है.

You may also like...