पाकिस्तान में तेजी से पांव पसार रहा कोरोना-24 घंटे में तीन गुना बढ़े मरीज


कोरोना से निपटने के लिए बुलाई गई सार्क देशों की अहम बैठक को अपने कश्मीर एजेंडे के लिए इस्तेमाल करने वाले पाकिस्तान की हालत खराब होती जा रही है। पाकिस्तान में कोरोना संक्रमित लोगों की संख्या 94 से बढ़कर 184 तक पहुंच गई है। पिछले 24 घंटे में मरीजों की संख्या तीन गुना तक बढ़ी है।सिंध प्रांत में कोरोना के 115 नए मामले सामने आए हैं जिससे पूरे पाकिस्तान में हड़कंप मच गया है।

सिंध प्रांत बना कोरोना का गढ़


पाकिस्तान के प्रधानमंत्री इमरान खान ने कोरोना को लेकर बड़े बड़े दावे किए थे। उन्होने कोरोना को इतने हल्के में लिया था कि सार्क देशों की अहम बैठक तक में खुद शामिल नहीं हुए थे लेकिन अब पाकिस्तान में कोरोना पीड़ितों की संख्या दक्षिण एशिया में सबसे ज्यादा है।

सिंध प्रांत कोरोना से सबसे ज्यादा प्रभावित है..सिंध में अब तक सबसे ज्‍यादा 150 मामले सामने आए हैं।इसके बाद खैबर पख्‍तूनख्‍वा में 15, बलूचिस्‍तान में 10, गिलगिट बाल्टिस्तान में 5, पंजाब में 2, पाकिस्तान की राजधानी इस्‍लामाबाद में 2 मामले सामने आए हैं।

कराची में कोरोना के 30 मामले


पाकिस्‍तान की आर्थिक राजधानी कहे जाने वाले कराची शहर में भी अब तक कोरोना के 30 मामले सामने आ चुके हैं। पाकिस्तान में जिस तेजी से कोरोना फैल रहा है वो इस कंगाल मुल्क की आर्थिक सेहत के लिहाज से भी खतरे की घंटी है।

बुनियादी संसाधनों की कमी


पाकिस्तानी मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक पाकिस्तान इंस्टीट्यूट ऑफ मेडिकल साइंसेज यानी पीआईएमएस में इस खतरनाक वायरस से बचाव के लिए बुनियादी संसाधन तक उपलब्ध नहीं हैं, जिस वजह से यहां डॉक्टर भी सुरक्षित नहीं हैं।खबरों के मुताबिक यहां रविवार को कोरोना से संक्रमित शख्स को वेंटिलेटर पर लेकर जाने वाले दो डॉक्टरों को भी आइसोलेशन में रखना पड़ा ।

चीन की शरण में पाकिस्‍तान


कोरोना पर देर से जागे पाकिस्तान ने अब चीन से इस मामले में मदद मांगी है। प्रधानमंत्री इमरान खान ने राष्‍ट्रपति आरिफ अल्‍वी को चीन भेजा है। चीन के वुहान शहर से कोरोना वायरस फैलने के बाद किसी विदेशी राष्‍ट्राध्‍यक्ष की ये पहली चीन यात्रा है।

छात्रों को निकालने से किया था इनकार


अपने अंदरुनी हालात को देखते हुये पाकिस्तान कोरोना से इतना डरा हुआ था कि जब वुहान में फंसे अपने छात्रों को भारत समेत सभी देश निकाल रहे थे तो पाकिस्तान ने कोरोना फैलने के डर से उन्हें वहीं चीन के रहमो करम पर छोड़ दिया था। पाकिस्तान को ये डर था कि कहीं ये महामारी उसके घर तक न आ जाए । लेकिन पाकिस्तान के प्रधानमंत्री इमरान को जिसका डर था वही बात हो गई । कोरोना महामारी की चपेट में पाकिस्तान के कई राज्य आ गए हैं।

You may also like...