50 और 500 के चक्कर में उलझे राहुल गांधी, डिफॉल्टर्स के नाम पूछने में बिगड़ा गणित

पूर्व कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी जब भी कुछ बोलते हैं वो वायरल हो जाता है। इस बार राहुल गांधी का एक बयान और गणित चर्चा में है। दरअसल राहुल गांधी सोमवार को लोकसभा में बैंक डिफॉल्टर्स (Bank Defaulters) का मामला उठाया । राहुल ने जो आंकड़े पेश किये उसी में वो खुद उलझते नजर आए।

राहुल गांधी ने लोकसभा में बैंक संकट का मामला उठाया और सरकार को घेरते हुए 50 विलफुल डिफॉल्टर के नामों की जानकारी मांगी। एक ओर जहां उन्होंने लोकसभा में 50 डिफॉल्टर की जानकारी मांगी वहीं संसद के बाहर जब वो पत्रकारों से बात कर रहे थे तब उन्होंने 500 डिफॉल्टर्स का नाम पूछा। बस यहीं राहुल गांधी से चूक हो गई और वो 50 और 500 के चक्कर में उलझते नजर आए।

प्रश्नकाल के दौरान राहुल गांधी ने सवाल किया और कहा कि “मैंने सरकार से बहुत ही आसान सवाल पूछा है कि देश के वो 50 डिफॉल्टर कौन हैं। मेरे इस सवाल का जवाब मुझे नहीं दिया गया। प्रधानमंत्री मोदी कहते हैं कि जिन लोगों ने हिंदुस्तान के बैंकों से चोरी की है उनको मैं पकड़कर वापस लाऊंगा. तो मैंने सरकार से उनके नाम पूछे। जिसका जवाब नहीं मिला।

क्या होता है विलफुल डिफॉल्टर्स?

विलफुल डिफॉल्टर का मतलब होता है कि जानबूझ कर कर्ज नहीं चुकाना। अगर आसान शब्दों में कहें तो कोई भी व्यक्ति या कंपनी जिसके पास लोन चुकाने लायक रकम हो, लेकिन वो बैंक की किश्त अदा नहीं करे और बैंक उसके खिलाफ अदालत में चला जाए। ऐसा व्यक्ति या कंपनी विलफुल डिफॉल्टर कहलाता है।

इससे पहले कथित राफेल घोटाले को लेकर राहुल गांधी ने बार-बार अलग आंकड़े दिए थे। जिसे लेकर बीजेपी राहुल गांधी पर लगातार तंज कसती आई है।

You may also like...