निर्भया के चारों दोषियों ने चला फांसी टालने का नया पैंतरा!

एक तरफ निर्भया के दोषियों की फांसी का काउंटडाउन शुरु हो चुका है तो दूसरी तरफ कानूनी दांवपेंचो का फायदा उठाकर तीन बार फांसी से बच चुके निर्भया के दोषी एक बार फिर 20 मार्च को होने वाली फांसी टलवाने की जी तोड़ कोशिश कर रहे हैं

चौथी बार फांसी टालने की कोशिश

खबर है कि निर्भया के दोषी सुप्रीमकोर्ट, हाईकोर्ट और कड़कड़डूमा कोर्ट में याचिकाएं लंबित होने के आधार पर फांसी टलवाने के लिए एक बार फिर मंगलवार को दिल्ली की पटियाला हाउस कोर्ट से गुहार लगाएंगे…गौरतलब है कि इससे पहले भी पटियाला हाउस कोर्ट कानूनी विकल्पों के आधार पर सभी दोषियों के तीन अलग-अलग डेथ वारंट स्थगित कर चुका है

याचिकाएं लंबित होने का आधार रखेंगे

हालांकि निर्भया को दोषियों पवन, विनय, अक्षय और मुकेश के सभी कानूनी विकल्प खत्म हो चुके हैं लेकिन इस बार ये सभी गुनहगार कोर्ट में लंबित याचिकाओँ को फांसी टालने का जरिया बनाने की कोशिश में हैं…

पवन की मारपीट की याचिका लंबित

दोषी पवन ने 11 मार्च को कड़कड़डूमा कोर्ट में मंडोली जेल के दो पुलिसकर्मियों पर मारपीट का आरोप लगाकर उनके खिलाफ एफआईआर दर्ज करने के लिए याचिका दायर की थी..जिसके आधार पर न्यायाधीश ने 12 मार्च को जेल प्रशासन को नोटिस जारी कर आरोपी पुलिसकर्मियों पर की गई कार्रवाई की रिपोर्ट 8 अप्रैल तक मांगी है। नियम यही है कि अगर किसी दोषी की कोई भी याचिका लंबित है तो ऐसी स्थिति में उसे फांसी नहीं दी जा सकती।

विनय ने दया याचिका खारिज होने को दी है चुनौती

वहीं निर्भया के एक और दोषी विनय शर्मा ने 13 मार्च को हाईकोर्ट में अपनी दया याचिका खारिज होने के फैसले को चुनौती दी थी अपनी याचिका में दोषी विनय के वकील ने कहा है कि एक फरवरी 2020 को राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद ने जो दया याचिका खारिज की उसमें खामियां हैं..विनय के वकील ने दावा किया कि दया याचिका खारिज करने के लिए राष्ट्रपति के पास भेजी गई अनुशंसा में दिल्ली के गृह विभाग के मंत्री सत्येंद्र जैन के हस्ताक्षर नहीं हैं..वहीं निर्भया के तीसरे दोषी मुकेश ने अपने वकील एमएल शर्मा के जरिए सुप्रीम कोर्ट में फिर से क्यूरेटिव और दया याचिका दायर करने की अनुमति लेने के लिए याचिका दायर की है। इसमें मुकेश ने एमिकस क्यूरी वृंदा ग्रोवर पर कानूनी उपचारों के बारे में गलत जानकारी देने का आरोप लगाया है।

तिहाड़ में फांसी की तैयारी

एक तरफ निर्भया के दोषी फांसी टालने की कोशिश कर रहे हैं तो दूसरी तरफ तिहाड़ जेल ने फांसी की तैयारियां शुरु कर दी हैं…पवन जल्लाद को फांसी से तीन दिन पहले यानी 17 मार्च को बुलाया गया है..जल्लाद के आने के बाद जेल के अधिकारी फांसी की डमी टेस्टिंग करेंगे…निर्भया के चारों गुनहगारों मुकेश, पवन गुप्ता , विनय शर्मा और अक्षय सिंह को 20 मार्च की सुबह 5:30 बजे फांसी दी जाएगी

दोषियों ने की परिजनों ने मांगी इच्छामृत्यु

इधर दोषियों के 13 परिजनों ने राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद को चिट्ठी लिखकर अपने लिये इच्छामृत्यु की मांग की है…चिट्‌ठी में कहा गया है कि हमारे अनुरोध को स्वीकार करें और भविष्य में होने वाले किसी भी अपराध को रोकें, ताकि निर्भया जैसी दूसरी घटना न हो और अदालत को ऐसा न करना पड़े कि एक के स्थान पर पांच लोगों को फांसी देनी पड़े…परिजनों ने अपनी चिट्ठी में ये भी लिखा कि ऐसा कोई पाप नहीं जिसे माफ ना किया जा सके

You may also like...