कोच्चि से दुबई जा रहे प्लेन को रोका गया, 289 यात्रियों में एक यात्री कोरोन पोजिटिव

कोच्चि एयरपोर्ट से दुबई जाने वाले एक प्लेन से 289 यात्रियों को उड़ान भरने से कुछ देर पहले उतार लिया गया। इस प्लेन में एक ब्रिटिश नागरिक कोरोना वायरस से संकमित पाया गया इसके बाद सभी यात्रियों को विमान से उतार लिया गया। कोच्चि इंटरनेशनल एयरपोर्ट लिमिटेड के प्रवक्ता के मुताबिक यह यात्री 19 लोगों के उस ग्रुप का हिस्सा है जो केरल के मुन्नार में छुट्टियां मना रहा था और निगरानी में था और अधिकारियों को बिना बताए एयरपोर्ट पहुंचकर ग्रुप में शामिल हो गया। उन्होंने बताया कि जब जांच के नतीजे आए तो अधिकारियों को पता चला कि वह कोच्चि एयरपोर्ट पर है और अमीरात के एक विमान से यात्रा करने जा रहा है । इसके बाद पहले तो उसके ग्रुप के सभी 19 यात्रियों को विमान से उतारने का फैसला किया गया। प्रवक्ता ने कहा, ‘अब बाकी के 270 यात्रियों को भी उतारने और उन्हें जांच के लिए हॉस्पीटल भेजने का फैसला किया गया है।’

राज्यों में मरीजो की बढ़ती संख्या

बता दें भारत में 10 कोरोना के नए मामले सामने आने के बाद मरीजों की संख्या बढ़कर 109 पहुंच गई है । नए मरीजों में 3 केरल, 6 महाराष्ट्र और एक तेलंगाना से है। देश के 13 , ज्यों में सबसे ज्यादा महाराष्ट्र में 32, केरल में 22, हरियाणा में 14, यूपी में 11, राजधानी दिल्ली में 7 और कर्नाटक में 6 मरीज के साथ कुल 109 मरीज है। वहीं, दुनियाभर में करीब डेढ़ लाख से अधिक लोग कोरोना वायरस की चपेट में हैं। इसके अलावा भारत में दो मौतों समेत दुनिया में साढे पांच हजार से ज्यादा लोगों की जान गई है।

कालाबाजारी पर सरकार सख्त

सरकार कोरोना वायरस की पृष्ठभूमि में मास्क और हैंड सैनेटाइजर जैसी चीजों की कमी और कालाबाजारी के मद्देनजर एन 95 समेत मास्कों एवं हैंड सैनेटाइजरों को आवश्यक वस्तु अधिनियम के तहत जरूरी वस्तुएं घोषित कर कर चुकी है।
ये चीजें जून आखिर तक जरूरी वस्तुओं की श्रेणी में होंगी। इस कदम का लक्ष्य उचित दाम पर उनकी उपलब्धता सुनिश्चित करना तथा जमाखारों एवं कालाबाजारियों पर कार्रवाई करना है।

इटली और ईरान से लाए गए भारतीय

इटली से 218 भारतीय को एयर इंडिया के विमान से दिल्ली लाया गया है, इसे में 211 छात्र हैं । इन्हें 14 दिनों तक दिल्ली में आईटीबीपी के छवाला क्वारैंटाइन सेंटर में रखा जाएगा। जबकि ईरान से 234 भारतीयों का तीसरा दल मुंबई लाया गया । उन्हें मुंबई से जैसलमेर लाकर यहां के नए क्वारैंटाइन सेंटर में रखा गया है।

You may also like...