कोरोना महामारी के बीच मुंबई की लोकल ट्रेन पटरियों पर लौटी, यात्रा के लिए ये हैं जरूरी नियम

कोरोना संकट के बीच मुंबई से एक अच्छी खबर आई। मुंबईकरों की लाइफलाइन कही जाने वाली लोकल रविवार से पटरी पर दौड़ने लगी। सेलेक्टेड रूट पर शुरू हुई लोकल सेवा में आवश्यक सेवाओं से जुड़े लोग ही सफर कर पाएंगे।

पटरी पर लौटी मुंबई की ‘लाइफलाइन’

रविवार सुबह 5 बजकर 30 मिनट पर मुंबई की लाइफलाइन लोकल ट्रेन रेलवे ट्रैक पर उतरी और अपनी रफ्तार पकड़ी। पहली लोकल ट्रेन चर्चगेट से विरार के लिए रवाना हुई। फिलहाल ये लोकल सेवा चुनिंदा रूट पर चलाई जाएंगी। जिसमें सेंट्रल लाइन का मेन और हार्बर लाइन शामिल है। लोकल ट्रेनों में वो ही लोग सफर कर पाएंगे जो लोग आवश्यक सेवाओं से जुड़े हैं।

आवश्यक सेवा से जुड़े लोग सफर कर पाएंगे

फिलहाल लोकल ट्रेनें रोजाना सुबह 5.30 बजे से हर पंद्रह मिनट के अंतराल पर रात 11.30 बजे तक चलाई जाएंगी। जिससे आवश्यक सेवाओं से जुड़े लगभग सवा लाख लोगों को गंतव्य तक पहुंचने में आसानी होगी।

लोकल ट्रेन में किसे मिलेगी सफर की इजाजत

मुंबई की लोकल ट्रेनों में उन लोगों को यात्रा की इजाजत दी जाएगी जो कोरोना योद्धा हैं।खासकर राज्य सरकार की ओर से चयनित मेडिकल स्टाफ, सफाई कर्मियों समेत जरूरी सेवाओं वाले लोग ही लोकल की यात्रा कर पाएंगे। पिछले दिनों केन्द्रीय स्वास्थ्य मंत्री डॉ. हर्षवर्धन ने मुंबई में लोकल चलाने की जरूरत बताई थी।

आम यात्रियों को करना होगा इंतजार

आपको बता दें कि मुंबई की वेस्टर्न, सेंट्रल और हार्बर लाइन पर आम दिनों में रोजाना लगभग 80 लाख लोग सफर करते हैं। कई महीनों की खामोशी के बाद लोकल पटरी पर तो लौट आई है। लेकिन आम मुंबईकर को लोकल की यात्रा के लिए अभी इंतजार करना होगा

You may also like...