बड़ी बात: कोरोना वायरस बचायेगा कमलनाथ सरकार

एक ओर सारी दुनिया कोरोना के कहर से कराह रही है । अमेरिका और यूरोप के कुछ देश में इमरजेंसी लागू हो गया है । इटली और स्पेन पूरी तरह से लॉकडाउन की स्थिति में हैं और दुनिया उससे बचने के लगातार उपाय कर रही है ।

लेकिन मध्यप्रदेश की सियासी उठापटक में कोरोना वायरस से कमलनाथ सरकार फ़ायदा लेने के चक्कर में हैं । सिंधिया के जाने के बाद कमलनाथ सरकार भी जाने की तैयारी में है । सिंधिया समर्थक 22 विधायक बेंगलुरु में डटे हुए हैं । उनको अपने पाले में लाने की तमाम कांग्रेसी कोशिश अबतक नाकाम रही है ।

कोरोना वायरस के भरोसे कमलनाथ

दरअसल कमलनाथ नहीं चाहते हैं कि सोमवार को किसी भी हाल में फ्लोर टेस्ट हो । ऐसे में उनकी एकमात्र उम्मीद कोरोना वायरस पर टिकी है । कोरोना के कोहराम की वजह से पूरे देश में अफरातफरी है , इसलिए कमलनाथ चाहते हैं कि बाहर गए सभी विधायकों का सबसे पहले स्वास्थ्य जांच हो ।

पहले कोरोना टेस्ट फिर फ्लोर टेस्ट

मध्यप्रदेश सरकार बेंगलुरु में रुके सभी विधायकों के कोरोना टेस्ट करवाना चाहती है । इसके बहाने से कमलनाथ के पास विधायकों को मनाने का पूरा समय मिलेगा और इससे उन्हें उम्मीद है कि ऑपरेशन लॉट्स फ्लॉप हो जाएगा ।

मप्र सरकार के मंत्री ने प्रेस कांफ्रेंस कर बताया

कमलनाथ सरकार में मंत्री पीसी शर्मा ने प्रेस कॉन्फ्रेंस में बताया कि जयपुर , बेंगलुरु और हरियाणा से आये सभी विधायकों का पहले कोरोना टेस्ट करवाया जाएगा । मंत्री ने बताया कि राज्य कैबिनेट की बैठक में इस बात पर चर्चा की गई ।

मप्र विधानसभा की वर्तमान स्थिति

230 सीटों वाली विधानसभा में 2 सीटें खाली हैं । कांग्रेस ने विधानसभा चुनाव में 108 सीटें जीती थी । अब उसके 6 विधायकों के इस्तीफे मंजूर हो चुके हैं , अतः कांग्रेस के पास अभी 102 विधायक हैं । वर्तमान स्थिति में 222 विधायकों वाली विधानसभा में बहुमत के लिए 112 विधायकों का साथ होना ज़रूरी है । भाजपा के पास 107 विधायक हैं । निर्दलीय विधायक 4 की संख्या में हैं, जबकि सपा का 1 और बसपा के पास 2 विधायक हैं । इन सबको जोड़ने पर भी कांग्रेस बहुमत के पास नहीं पहुंच रही है जबकि भाजपा को सिर्फ 5 विधायकों की ज़रूरत है । अतः कांग्रेस कोरोना टेस्ट के बहाने अपने तरकस के सभी तीर टेस्ट करना चाह रही है । यह देखना दिलचस्प होगा कि मध्यप्रदेश में कमल खिलता है या कमलनाथ खिलते हैं

You may also like...