चीन को बड़े घाव देंगे ‘छोटू टैंक’, लद्दाख के लिए खास ऑर्डर देगी इंडियन आर्मी

छोटू टैंक, जी हां ये वो जंगी योद्धा है..जो सरहद पर चीन की हर चालबाजी का मुंहतोड़ जवाब देगा। भारत ने चीन के साथ तनातनी को देखते हुए हल्के टैंक खरीदने का फैसला किया है ताकि पहाड़ी इलाकों में आसानी से दुश्मन से मुकाबला किया जा सके।

सरहद पर छोटू टैंक करेंगे बड़ा धमाका

एलएसी पर चीन के साथ टकराव को देखते हुए हिंदुस्तान अब तेजी से अपने तरकश में नए नए हथियार शामिल कर रहा है। इसी कड़ी में अब भारत ने हल्के टैंक खरीदने का फैसला किया है। सेना को इमरजेंसी में लाइटवेट टैंक्स खरीदने की इजाजत दी गई है।

लाइट वेट टैंक से होगी भारी गर्जना

ये टैंक हल्के होंगे और पहाड़ी इलाकों में काफी असरदार साबित होंगे। इन्हें पहाड़ी इलाकों में जंग के लिए ही खास तौर पर तैयार किया गया है। इसीलिए सेना ऐसे टैंक खरीदना चाहती है। जो एयर ट्रांसपोर्टेबल हो यानी जरूरत पड़ने पर उन्हें फॉरवर्ड लोकेशन पर लैंड या एयरड्रॉप किया जा सके।

सरहद पार खतरनाक साजिशें रच रहा चीन

एलएसी के इलाके में चीन ने रोड नेटवर्क खड़ा कर रखा है। जबकि भारत अभी इस इलाके में इंफ्रांस्ट्रक्चर डेवलप कर रहा है। ऐसे में इन टैंक्स के होने से चीन की किसी भी साजिश का वक्त रहते जवाब दिया जा सकेगा। खबर है कि क्योंकि चीन ने पूर्वी लद्दाख से सटे इलाकों में लाइट वेट टैंक्स को छिपाकर रखा हुआ है। जबकि भारत के पास ज्यादातर टैंक ऐसे हैं। जिनका इस्तेमाल मैदानी इलाकों में किया जा सकता है। इसमें टी72 और टी90 और अर्जुन टैंक शामिल हैं। इन टैंक्स को हिमालय से लगी सीमा पर तैनात किया गया है। लेकिन इन्हें पहाड़ों के बीच ऑपरेट करना मुश्किल होता है। यही वजह है कि एक बार फिर हल्के टैंक की जरूरत महसूस हो रही है

You may also like...