मुरादाबाद में डॉक्टरों की टीम पर जानलेवा हमला, योगी ने कहा NSA के तहत होगी कार्रवाई

उत्तर प्रदेश के मुरादाबाद में इंदौर जैसी वारदात दोहराई गई। यहां भी कुछ डॉक्टर और मेडिकल टीम कोरोना संदिग्धों की जांच करने के लिए पहुंची थी। इसी दौरान उपद्रवियों ने उनपर जानलेवा हमला कर दिया। सबसे पहले वीडियो देखिए फिर आपको पूरी कहानी विस्तार से बताएंगे

उत्तर प्रदेश की योगी सरकार कोरोना वायरस के संक्रमण में आए लोगों को सुरक्षित करने में जी जान से जुटी है। इसके बावजूद चंद लोग कोरोना को हराने के मकसद को कामयाब नहीं होना देना चाहते। पीतलनगरी के नाम से मशहूर मुरादाबाद में कोरोना के संक्रमण में आकर दो लोगों की मौत के बाद स्वास्थ्य विभाग की टीम ने हर इलाके में लोगों का परीक्षण शुरू किया। इसी बीच बुधवार को मेडिकल टीम पर कुछ उपद्रवियों ने हमला बोल दिया। वहां से मेडिकल टीम के कुछ लोग किसी तरह से जान बचाकर CMO ऑफिस पहुंचे और अपने साथ हुई वारदात की जानकारी दी।

दरअसल मुरादाबाद के नागफनी थाने के हाजी नेब की मस्जिद इलाके में डॉक्टरों की टीम कोरोना संदिग्धों की जांच के लिए पहुंची थी। बताया जा रहा है कि दो दिन पहले कोरोना पॉजिटिव शख्स सरताज की मौत हो गई थी।

सरताज के छोटे भाई को भी तीन दिन से बुखार होने के कारण उसे क्वारंटाइन के लिए ले जाने के लिए बुधवार को स्वास्थ्य विभाग की टीम नवाबपुरा पहुंची। मेडिकल टीम के पहुंचने के बाद मुहल्ले के लोग इकट्ठा होना शुरू हो गए और सरताज के परिवार वालों को ले जाने का विरोध करने लगे। स्वास्थ्य विभाग की टीम ने उन्हें समझाने की कोशिश तो भीड़ में मौजूद कुछ लोगों ने हंगामा करना शुरू कर दिया और देखते-देखते ही भीड़ आक्रामक हो गई और मेडिकल टीम पर हमला शुरू कर दिया।

आरोप है कि मेडिकल टीम पर हमला होते ही पुलिस की टीम मौक ए वारदात से भाग खड़ी हुई। बताया जा रहा है कि उपद्रवियों ने एंबुलेंस में तोड़-फोड़ की और पथराव किया। हमले की जानकारी मिलते ही डीएम और एसपी मौके पर पहुंचे। जहां पुलिस ने दस लोगों को हिरासत में लिया है। भीड़ के हमले में सुधीश चंद्र अग्रवाल नाम के डॉक्टर बुरी तरह घायल हुए हैं।

आरोपियों पर लगेगा NSA

मुरादाबाद की घटना पर नाराजगी जताते हुए यूपी के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने कहा है कि हमलावरों को बख्शा नहीं जाएगा। उन पर रासुका (NSA) लगाया जाएगा और उनसे ही नुकसान की भरपाई की जाएगी।

You may also like...