शिनजियांग में चीन की ‘दास फैक्ट्री’, जुल्म के लिए बनाए गए हैं खतरनाक टॉर्चर सेल

शिनजियांग में चीन का जुल्म लगातार बेपर्दा हो रहा है । उइगर मुसलामनों के खिलाफ चीन सरकार की साजिशों लगातार सामने आ ही है। शिनजियांग के एक पूरा इलाका जेल में तब्दील कर दिया गया । इलाके के मूल निवासी अब चीन की कम्युनिस्ट सरकार के गुलाम हैं। चीन जैसे सर्विलांस स्टेट में रहने का क्या मतलब होता है। जिनजियांग में कोई उइगर मुसलमानों से पूछे।

चीन में बने हैं कई टॉर्चर सेल

हिटलर और स्टालिन की तर्ज पर चीन में उइगर मुसलमानों के कैंप हैं। जहां उन्हें यातना दी जाती है। चीन इन्हें रीइज्यूकेशन कैंप कहता है। शिनजियांग में चीन के जुल्म की तस्वीरें सामने आती रही है। जिसे चीन में उइगर मुसलमानों के खिलाफ साजिश का नया चेहरा बताया जा रहा है। चीन में उइगर मुसलमानों को जबरन मजदूरी के लिए लेकर जाया जाता है।

कोरोना काल में उइगरों का जबरन पलायन

मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक जब चीन में कोरोना का कहर शुरु हुआ था और हुबेई प्रांत में लॉकडाउन लगा था तब भी चीनी अत्याचार में कोई कमी नहीं कर रहे थे। लॉकडाउन के दौरान जब किसी को घरों से निकलने की इजाजत नहीं थी। तब भी उइगर मुसलमानों का पलायन करवाया जा रहा था।

दुनिया को धोखा देता रहा है चीन

चीनी सरकार का कहना है कि वो गरीब उइगरो की मदद कर रहा है । लेकिन जानकारों का कहना है कि चीन की मंशा शिनजियांग में उइगर आबादी को प्रभावहीन करने की है । उइगर मुसलमानों पर हो रहे जुल्म को लेकर अब पूरी दुनिया में आवाज उठने लगी है । अमेरिका सहित दूसरे पश्चिमी देश लगातार इस मुद्दे को उठा रहे हैं ।

You may also like...