चीन के खिलाफ गुस्से में दुनिया, US के बाद ब्रिटेन में भड़का आक्रोश, नाइजीरिया ने भी दी चेतावनी

कोरोना वायरस से दुनिया त्राहिमाम-त्राहिमाम कर रही है। हर ओर हाहाकार मचा है। मौत का ये वायरस हर लम्हा किसी ना किसी की सांसे छिन रहा है। मुर्दाघरों में शवों को रखने तक का जगह नहीं। अस्पताल दर अस्पताल कोविड-19 मरीज से पटे पड़े हैं। इस मुश्किल हालात के लिए दुनिया के कई देश चीन को जिम्मेदार बता रहे हैं। आज दुनिया के ज्यादातर देश कोरोना वायरस के फैलने पीछे की वजह को चीन की साजिश का हिस्सा बता रहे हैं।

चीन के खिलाफ ब्रिटेन में उठ रही आवाज

पहले अमेरिका ने चीन के खिलाफ ऊंगली उठाई। उसे सवालों के कठघरे में खींचा और अब ब्रिटेन में चीन के खिलाफ गुस्से की आग धधक रही है। कोरोना वायरस से त्रस्त हो चुके ब्रिटेन में अब चीन के साथ संबंधों का पुनर्मूल्यांकन करने की मांग की जा रही है। ब्रिटेन की खुफिया एजेंसियों का मानना है कि चीन ने कोरोना पर सच छुपाया है।

चीन के अंतरराष्ट्रीय संबंधों पर कोरोन का असर

चीन के अंतरराष्ट्रीय संबंधों पर कोरोना वायरस का असर पड़ता दिख रहा है। ब्रिटेन की खुफिया एजेंसी का कहना है कि हाई-टेक और रणनीतिक उद्योग में चीनी निवेश पर कंट्रोल होना चाहिए।

चीनी इंवेस्टमेंट घटाने की मांग

गार्जियन की रिपोर्ट के मुताबिक, चीन ने दावा किया है कि वो कोरोना वायरस की महामारी से सफलतापूर्वक निपटा है और अब वो अपनी वन-पार्टी मॉडल के बचाव में उतरेगा। वहीं ब्रिटेन की खुफिया एजेंसियों का मानना है कि पीएम बोरिस जॉनसन और दूसरे मंत्रियों को सच समझना होगा और उन्हें विचार करना होगा कि ब्रिटेन अब चीनी संबंध पर किस तरह से प्रतिक्रिया दे।

पूर्व पीएम थेरेसा मे को चीन पर नहीं था भरोसा?

ब्रिटेन की पूर्व पीएम थेरसा मे जब पदभार ग्रहण किया था तब उन्होंने चीनी जनरल न्यूक्लियर पावर ग्रुप के इन्वेस्टमेंट की समीक्षा के आदेश दिए थे। हालांकि, बाद में इसे मंजूरी दे दी गई।

नाइजीरिया ने चीन को दी चेतावनी

कोरोना वायरस की वजह से आज ना सिर्फ अमेरिका और ब्रिटेन जैसे देश चीन से नाराज हैं, बल्कि अफ्रीकी देश भी चीन से खफा है। दरअसल चीन के गुआनझाउ शहर में पिछले दिनों अफ्रीकी छात्रों के साथ बुरा बर्ताव किया गया था। उन्‍हें न सिर्फ जबरन कोविड-19 की टेस्टिंग के लिए मजबूर किया गया बल्कि उनके साथ मारपीट भी की गईं। जिससे नाराज हो कर नाइजीरिया जैसे छोटे से देश ने चीन को चेतावनी दी। नाइजीरिया में चीनी दूतावास के अधिकारी को वहां के स्‍पीकर ओलोयो एकिन अलाबी ने अपने ऑफिस में बुलाकर फटकार लगाया है। इसका वीडियो भी वायरल हो रहा है। देखें video

You may also like...