लॉकडाउन में लाचारी की ऐसी तस्वीर नहीं देखी होगी, कुत्तों के साथ इंसान भी पीने लगा सड़क पर गिरा दूध

आपने लॉकडाउन के दौरान अपने छोटे-छोटे बच्चों को छाती से चिपकाए मां बाप को सैंकड़ों किलोमीटर दूर पैदल जाने की तस्वीरें देखी होंगी, एक राज्य से पैदल चलकर दूसरे राज्य में अपने घर तक पैदल चलने के किस्से भी टीवी चैनलों पर खूब देखे सुने होंगे लेकिन उत्तर प्रदेश के आगरा से जो तस्वीर सामने आई है वो किसी को भी झकझोर कर रख देगी.

कुत्तों के साथ दूध पीता दिखा इंसान

लॉकडाउन के दौरान कुछ लोगों के लिए पेट भरना कितनी बड़ी चुनौती बन चुका है इसका जीता जागता उदाहरण आगरा में तब दिखा जब सड़क पर बह रहा दूध कुत्ते और इंसान दोनों साथ-साथ पीते नज़र आए. ये घटना आगरा के रामबाग इलाके की है खबरों के मुताबिक यहां दूध की एक टंकी पलट गई जिसके बाद सड़क पर दूध बहने लगा. इसी दौरान वहां एक गरीब आदमी आया और अपनी दोनों हथेलियों से दूध उठाकर बर्तन में भरने लगा जबकि उससे कुछ ही दूरी पर कुत्तों का एक झुंड भी सड़क पर गिरा वो दूध पी रहा था.

पत्रकार ने शेयर किया वीडियो

एक निजि न्यूज चैनल के पत्रकार ने ये वीडियो अपने सोशल मीडिया अकाउंट पर शेयर किया जिसके कैप्शन में पत्रकार ने लिखा कि ‘इंसान और जानवर साथ-साथ दूध पीने लगे’ . ये तस्वीर अपने आप में बयां करने के लिए काफी है कि सरकार भले ही गरीबों के लिए हर कदम उठाने का दावा कर रही हो लेकिन सरकारी मदद शायद हर वंचित तक नहीं पहुंच पा रही है.

योगी ने किए हैं कई एलान

ये भी कम हैरानी की बात नहीं कि ये तस्वीर उसी उत्तरप्रदेश से आई है जहां के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ लॉकडाउन में गरीबों के मुद्दे पर बेहद संवेदनशील हैं और वो लगातार लॉकडाउन के दौरान गरीबों को मिलने वाली मदद पर नजर बनाए हुए हैं , योगी सरकार ने सबसे पहले मजदूरों के खाते में सीधे 1000 रुपए डाले थे इसके अलावा वो 27 लाख से ज्यादा मनरेगा मजदूरों के खातों में सीधे 611 करोड़ रूपए ट्रांसफर कर चुके हैं. इतना ही नहीं योगी आदित्यनाथ ये भी कह चुके हैं कि लॉकडाउन के दौरान किसी गरीब को भूख का सामना नहीं करना पड़ेगा लेकिन इस सब बातों से इतर आगरा से आई एक तस्वीर तमाम दावों और वादों पर सवाल उठा रही है.

आगरा मॉडल पर भी उठे सवाल

यूपी में आगरा इस वक्त कोरोना का सबसे बड़ा हॉटस्पॉट बना हुआ है पहले रविवार को यहां कोरोना के 12 केस सामने आए और फिर सोमवार को 39 और कोरोना संक्रमित मिले जिससे कुल संख्या 144 पहुंच गई है, इसके बाद उस आगरा मॉडल पर सवाल उठने लगे हैं जिसे केन्द्र सरकार पूरे देश में लागू करना चाहती थी. यूपी में कोरोना संक्रमितों का आकड़ा 607 तक पहुंच गया है जिसमें सबसे ज्यादा मरीज आगरा से ही हैं.

You may also like...