मोदी के 20 लाख करोड़ पर विपक्ष का तंज, किसी ने कहा ‘गोल-गोल गोली’ कोई बोला ‘ब्लैंक पेज’

कोरोना संकट के बीच मोदी सरकार ने 20 लाख करोड़ रुपये का आर्थिक पैकेज घोषित किया है. इस पैकेज को लेकर विपक्ष लगातार सवाल खड़े कर रहा है. कांग्रेस के पी चिंदबरम और कपिल सिब्बल के अलावा समाजवादी पार्टी के अखिलेश यादव ने पीएम पर तंज कसा है.

133 गुना बड़ा जुमला

अखिलेश यादव ने ट्वीट करके कहा है कि- ‘पहले 15 लाख का झूठा वादा और अब 20 लाख करोड़ का दावा…अबकी बार लगभग 133 करोड़ लोगों को 133 गुना बड़े जुमले की मार…ऐ बाबू कोई भला कैसे करे एतबार…अब लोग ये नहीं पूछ रहे हैं कि 20 लाख करोड़ में कितने जीरो होते हैं बल्कि ये पूछ रहे हैं उसमें कितनी गोल-गोल गोली होती हैं.’

अखिलेश ने कहा कि ये सच है कि बुनियाद कभी दिखती नहीं पर ये नहीं कि उसे देखना भी नहीं चाहिए. जिन गरीबों के भरोसे की नींव पर आज सत्ता का इतना बड़ा महल खड़ा हुआ है, ऊंचाइयों पर पहुंचने के बाद संकट के समय में भी उन गरीबों की अनदेखी करना अमानवीय है. ये “सबका विश्वास” के नारे के साथ विश्वासघात है.

पीएम ने दिया ब्लैंक पेज’

पूर्व वित्त मंत्री पी चिदंबरम ने भी सरकार के 20 लाख करोड़ रुपए के राहत पैकेज पर निशाना साधा और कहा कि- ‘प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने हमें हेडलाइन और ब्लैंक पेज  यानी कोरा कागज दिया है। अब देखना होगा कि वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण उस ब्लैंक पेज को कैसे भरती हैं। हम हर उस अतिरिक्त रुपए पर नजर रख रहे हैं, जो अर्थव्यवस्था में डाला जाएगा।’  

ट्वीट के जरिए हमला

चिदंबरम ने बुधवार को दो ट्वीट किए। उन्होंने बताया कि खाली पेज की वजह से मेरी प्रतिक्रिया भी खाली थी। हम देखेंगे किसे क्या मिलता है?

सिब्बल का 420वाला वार

चिदंबरम के साथ ही पूर्व केंद्रीय मंत्री और कांग्रेस नेता कपिल सिब्बल ने तंज कसते हुए कहा कि असली आर्थिक पैकेज तो 4 2020 है. कपिल सिब्बल ने पीएम के आर्थिक पैकेज पर ट्वीट करते हुए लिखा कि- ‘पीएम बोले कि 20 लाख करोड़ का वित्तीय पैकेज 20 2020 है, जबकि एक्सपर्ट कहते हैं कि सरकार के पास नकदी प्रवाह केवल 4 लाख करोड़ है. बाकी आरबीआई ने 8 लाख करोड़ का नकदी प्रवाह बाज़ार में डाला है. सरकार के पास 5 लाख करोड़ का अतिरिक्त कर्ज है. एक लाख करोड़ गारंटी फीस है. इसलिए वास्तविक वित्तीय पैकेज: 4 2020 है.’

You may also like...