पीएम की मीटिंग में मिला लॉकडाउन-4 का इशारा, छूट के साथ बढ़ सकता है लॉकडाउन !

वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के जरिए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की मीटिंग से काफी हद तक साफ हो चुका है कि देश में लॉकडाउन-4 लागू होगा। मुख्यमंत्रियों के साथ हुई मीटिंग में कई मुख्यमंत्रियों ने कोरोना के बढ़ते मामले को देखते हुए लॉकडाउन बढ़ाने की मांग की है। पीएम मोदी ने कहा कि लॉकडाउन के चौथे चरण में तीसरे चरण के नियमों की जरूरत नहीं है। इससे स्थिति करीब-करीबसाफ हो गई है कि 17 मई के बाद भी लॉकडाउन खत्म नहीं होगा।

लॉकडाउन-4 लागू करने पर हुआ मेगा मंथन

मोदी सभी राज्यों और केंद्र शासित प्रदेशों के मुख्यमंत्रियों के साथ वीडियो कांफ्रेंसिंग के जरिए बात की। बैठक में कोरोना संकट और लॉकडाउन को लेकर चर्चा की जाएगी और मुख्यमंत्रियों से सुझाव मांगे। मुख्यमंत्रियों के साथ बैठक में पीएम मोदी ने राज्यों की तारीफ करते हुए कहा कि लॉकडाउन पर जरूरत के हिसाब से फैसले बदलने पड़े हैं।

लॉकडाउन कैसा हो इसके लिए 15 मई तक मांगे गए सुझाव

प्रधानमंत्री मोदी ने मुख्यमंत्रियों के साथ हुई मीटिंग में कहा कि वो अपने-अपने राज्यों में लॉकडाउन की कैसी व्यवस्था चाहते हैं, उसका डीटेल 15 मई तक दे दें। कहा जा सकता है कि 17 मई को तीसरा चरण खत्म होने के बाद लॉकडाउन हटने नहीं जा रहा है। ये अलग बात है कि जिस तरह पहले के मुकाबले दूसरे चरण में और फिर दूसरे के मुकाबले तीसरे चरण में ढिलाई और छूट का दायरा बढ़ता गया, उसी तरह 17 मई के बाद चौथे चरण में प्रवेश करने पर लॉकडाउन में कुछ और गतिविधियों की अनुमति दी जाएगी। ये किसी और ने नहीं, बल्कि खुद प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने मीटिंग के दौरान कहा।

जीवनशैली में करना होगा बदलाव

पीएम मोदी ने बैठक के दौरान कहा कि कोरोना के बाद एक नई जीवनशैली विकसित होगी। देश में पर्यटन की असीम संभावनाएं हैं उसको भी नए नजरिए से देखना होगा। साथ ही टेक्नॉलॉजी और मॉडर्न तकनीक को ध्यान में रखकर एजूकेशन के नए मॉड्यूल विकसित करने होंगे।

दो गज की दूरी ढीली हुई तो संकट बढ़ेगा

पीएम मोदी ने प्रवासी मजदूरों के बारे में बोलते हुए कहा कि घर जाने की उनकी जरूरत को समझते हैं। हमारे लिए ये चुनौती है कि कोविड -19 को गांवों तक नहीं फैलने दें। इस लिए एक बार फिर पीएम ने कहा कि दो गज की दूरी ढीली हुई तो संकट और बढ़ेगा।

मीटिंग में कई राज्यों ने लॉकडाउन बढ़ाने की मांग की

महाराष्ट्र, तेलंगाना, पंजाब और बिहार के सीएम ने पीएम मोदी से लॉकडाउन बढ़ाने की मांग की है। महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे ने भी लॉकडाउन बढ़ाने की मांग की है। बिहार के सीएम नीतीश कुमार भी लॉकडाउन बढ़ाने के पक्ष में हैं। मीटिंग में नीतीश कुमार ने कहा कि बिहार सरकार का मानना है कि लॉकडाउन हटने के बाद बड़ी तादाद में राज्य में आने वाले लोगों से कोराना संकट और गहरा सकता है। वहीं तेलंगाना के सीएम ने लॉकडाउन बढ़ाने की मांग करते हुए कहा कि पैसेंजर ट्रेन चलाने से कोरोना संक्रमण का खतरा है।

पीएम ने दिया ‘जन से जग तक’ का नारा

बैठक के आखिरी दौर में पीएम मोदी ने नया नारा ‘जन से जग तक’ दिया। इस नए नारे के पीछे पीएम का तर्क था कि जैसे फर्स्ट वर्ल्ड वॉर और सेकेंड वर्ल्ड वॉर के बाद दुनिया बदल गईं । उसी तरह कोरोना के बाद भी चीजें बदल जाएंगी।

You may also like...