बहुत जल्द जाएगी जफरुल इस्लाम की कुर्सी, दिल्ली सरकार ने शुरू की कानूनी कार्रवाई

फेसबुक पर ज़हरीली पोस्ट लिखने के आरोपी दिल्ली माइनॉरिटी कमीशन के चेयरमैन जफरूल इस्लाम खान को अब कभी भी उनके पद से हटाया जा सकता है. दिल्ली सरकार ने एलजी के निर्देश के बाद उन्हें पद से हटाने की कानूनी कार्रवाई शुरू कर दी है.

हाईकोर्ट को दी गई जानकारी

दिल्ली की केजरीवाल सरकार ने हाईकोर्ट को इस मामले की जानकारी देते हुए ये दावा किया कि जफरूल इस्लाम खान को दिल्ली अल्पसंख्यक आयोग के अध्यक्ष पद से हटाने का लीगल प्रोसेस शुरू हो चुका है. दिल्ली सरकार ने हाईकोर्ट को बताया कि दिल्ली के उपराज्यपाल अनिल बैजल ने जफरुल इस्लाम को कारण बताओ नोटिस जारी कर दिया है. सरकार के इस दावे के बाद हाईकोर्ट ने उस याचिका का निपटारा कर दिया जिसमें जफरुल इस्लाम खान के कथित भड़काऊ पोस्ट के लिए उन्हें इस पद से हटाए जाने का निर्देश देने की मांग की गई थी। हम आपको बता दें कि जफरूल का कार्यकाल जुलाई में खत्म होने वाला है।

एलजी ने भेजा कारण बताओ नोटिस
दिल्ली सरकार के वकील ने कोर्ट को बताया कि एलजी ने खुद भी जफरूल को 8 मई को एक कारण बताओ नोटिस जारी करके पूछा है कि उनके खिलाफ कार्रवाई क्यों नहीं होनी चाहिए।

याचिका में क्या कहा गया ?

याचिका में कहा गया था 28 अप्रैल को जफरूल ने सोशल मीडिया के अपने ऑफिशल पेज पर देश के खिलाफ और घृणा फैलाने वाला पोस्ट किया। उपराज्यपाल ने मुख्यमंत्री को लिखी चिट्ठी में कहा कि जफरूल का सोशल मीडिया पोस्ट प्रथम दृष्ट्या शहर में सांप्रदायिक सौहार्द बिगाड़ने वाला लगता है। यह मामला इसलिए विशेष तौर पर गंभीर है कि ऐसा उस व्यक्ति ने किया जिस पर दिल्ली में सांप्रदायिक सौहार्द बढ़ाने की जिम्मेदारी है।

जफरूल इस्लाम पर देशद्रोह का केस

2 मई को दिल्ली पुलिस की स्पेशल सेल ने राजद्रोह एवं धर्म, नस्ल, जन्मस्थान, निवास और भाषा के आधार पर विभिन्न समुदायों के बीच घृणा फैलाने के आरोप में जफरूल इस्लाम खान के खिलाफ आईपीसी की धारा 124A और 153A के तहत केस दर्ज किया था.

पहले माफी मांगी फिर मुकरे

दिल्ली अल्पसंख्यक आयोग के अध्यक्ष जफरूल इस्लाम ने हिंदुस्तान में मुसलमानों पर कथित अत्याचार और अरब देशों को शिकायत करने जैसी बातें लिखी थी हालांकि मामला बढ़ा तो उन्होने माफी भी मांगी थी लेकिन तब तक पुलिस उनके खिलाफ केस दर्ज कर चुकी थी लिहाजा वो फिर अपनी बात से पलट गए थे और किसी भी माफी से इनकार किया था. हाल के दिनों में दिल्ली पुलिस की स्पेशल सेल ने जफरुल इस्लाम को अपना मोबाइल और लैपटॉप जमा करने का आदेश दिया था.

हाईकोर्ट में अग्रिम जमानत पर सुनवाई

इस बीच दिल्ली जफरुल इस्लाम दिल्ली हाईकोर्ट भी पहुंच चुके हैं जहां उन्होंने गिरफ्तारी से बचने के लिए अग्रिम जमानत की गुहार लगाई है इस मामले पर 12 मई को सुनवाई होगी.

You may also like...