कोरोना से ठीक हुए मरीजों में दोबारा एक्टिवेट हुआ वायरस, कहां 91 मरीज दोबारा हुए संक्रमित, पढ़ें रिपोर्ट

कोरोना वायरस किस तरह अपने शिकार की जान लेता है? किसे वो सबसे पहले अपने टारगेट पर चुनता है? ये अब तक कोई समझ नहीं पाया है। आज दुनिया भर के वैज्ञानिक कोरोना वायरस की काट ढूंढने में लगे हैं लेकिन ये वायरस अब तक एक अबूझ पहेली बना हुआ है।

दोबारा से एक्टिवेट हुआ कोरोना वायरस!

कोरोना वायरस को लेकर एक चौकाने वाला खुलासा सामने आया है। कोरोना वायरस से ठीक हो चुके मरीजों के दोबारा पॉजिटिव आने की घटना फिर से सामने आई है। खबर है कि दक्षिण कोरिया में 40 लोग दोबारा कोरोना पॉजिटिव पाए गए हैं। इससे पहले 51 लोग कोरोना वायरस को मात देकर ठीक हो चुके थे। दोबारा से कोरोना पॉजिटिव पाए जाने की घटना से दुनिया सकते में आ गई है।

दक्षिण कोरिया से दुनिया के लिए बुरी खबर

दक्षिण कोरिया में अस्पताल से छुट्टी मिलने के बाद भी मरीज दोबोरा COVID-19 संक्रमण के शिकार हो रहे हैं। शुक्रवार को ऐसे 91 मरीज मिले, जो पूरी तरह ठीक होने के बाद दोबारा से कोरोना पॉजिटिव पाए गए। मेडिकल एक्सपर्ट से लेकर साइंटिस्ट तक में किसी को कुछ समझ नहीं आ रहा कि आखिर ये कैसे हो गया। कोरोना के इस डेंजरस ट्रेंड से पूरी दुनिया के माथे पर शिकन आ चुका है।

डिफ्यूज वायरस का डेंजरस अटैक

अब तक मेडिकल एक्सपर्ट्स समझ रहे थे कि कोरोना वायरस से संक्रमित व्यक्ति अगर ठीक हो जाए तो उसके शरीर में कोरोना वायरस दोबारा से अटैक नहीं कर सकता क्योंकि संक्रमित व्यक्ति के शरीर में कोरोना से लड़ने के लिए इम्यूनिटी डेवलप हो जाता है। लेकिन नए मामलों ने कई सवाल खड़े कर दिए हैं।

अलग-अलग है डॉक्टरों की राय

साउथ कोरिया के सेंटर फॉर डिजीज कंट्रोल एंड प्रीवेंशन के डायरेक्टर जिओंग उन केओंग ने कहा है कि वायरस दोबारा एक्टिवेट हो गया होगा। हालांकि, स्वास्थ्य अधिकारी अभी इस मामले की जांच कर रहे हैं ताकि ठोस निष्कर्ष पर पहुंचा जा सके कि कैसे ये मरीज दोबारा पॉजिटिव हो गए। दक्षिण कोरिया के एक दूसरे डॉक्टर ने कहा है कि, ‘हो सकता है कि मरीज दोबोरा संक्रमित न हुए हो बल्कि उनके शरीर में पहले से मौजूद वायरस फिर से सक्रिय हो गए हो। कुछ एक्सपर्ट्स कह रहे हैं कि टेस्टिंग किट में कोई गड़बड़ी हो गई होगी। फिलहाल डॉक्टरों के अलग-अलग तर्क हैं, लेकिन कोई भी किसी ठोस वजह को सामने नहीं रख पाए हैं.

You may also like...