भारत में कोरोना फैलाने की साजिश पर बड़ा खुलासा, बिहार में किसने भेजे 50 ‘कोरोना बम’ ?

हिंदुस्तान कोरोना की महामारी को हराने के लिए जी जान से लड़ रहा है लेकिन इस बीच कोरोना को लेकर हुए एक खुलासे के बाद बिहार में हड़कंप मच गया है. खबर है कि बिहार में कोरोना वायरस फैलाने की साजिश रची जा रही है वो भी पड़ोसी मुल्क नेपाल के जरिए. इस खुलासे के बाद नेपाल-बिहार बॉर्डर पर कड़ी चौकसी बरती जा रही है.

डीएम के खत से खुलासा

बिहार में बेतिया के डीएम कुंदन कुमार के एक पत्र सामने आया है जिससे ये खुलासा हुआ है कि सीमापार नेपाल से कुछ लोग भारत खासकर बिहार में एक सोची समझी रणनीति के तहत कोरोना का संक्रमण फैलाने की कोशिश कर रहे हैं.

खत में क्या लिखा है?

इस चिट्ठी में डीएम ने एसएसबी यानी सीमा सुरक्षा बल की 47वीं वाहिनी बटालियन को बताया है कि सीमा पार से कोरोना के संदिग्धों को हिंदुस्तान में प्रवेश कराया गया है और जिन 40 से 50 संदिग्धों को नेपाल बॉर्डर से एंट्री कराई गई है उनका मकसद देश में कोरोना वायरस फैलाना है.

जालिम मुखिया की साजिश

डीएम के इस पत्र में नेपाल के रहने वाले जालिम मुखिया नाम के शख्स का जिक्र किया गया है जो नेपाल में अवैध हथियारों का तस्कर है और इसी ने भारत में कोरोना की महामारी को फैलाने के लिए 40 से 50 कोरोना संदिग्धों को भारत भेजा है. जालिम मुखिया की इस साजिश के सामने आने के बाद बेतिया पुलिस अलर्ट हो गई है साथ ही एसएसबी भी अलर्ट मोड में आ गई है.

SSB ने भी जालिम पर जताया शक

खबरों को मुताबिक नेपाल-बिहार बॉर्डर पर तैनात एसएसबी ने भी इस हरकत के पीछे मुख्य साजिशकर्ता जालिम मुखिया को ही बताया है. जालिम मुखिया भारत में नेपाल से अवैध हथियार की सप्लाई की तस्करी में शुरू से ही शामिल रहा है. इस खुलासे के बाद भारत-नेपाल सीमा से लगे सात जिलों के पुलिस अधीक्षकों ने अपने अपने इलाके के थानेदारों को पत्र लिखकर नेपाल से जुड़ने वाले गुप्त रास्तों का पता लगाने का निर्देश दिया है. इस खत में सातों एसपी ने थानेदारों को चौकस रहने को कहा है.

बिहार सरकार ने जांच के आदेश दिए

वहीं इस खुलासे के बाद बिहार सरकार ने पूरे मामले की जांच के आदेश दिए हैं बिहार के गृह सचिव ने कहा है कि सभी मामलों की जांच की जा रही है उन्होंने ये भी कहा है गृह मंत्रालय को इस पूरे प्रकरण की जानकारी दे दी गई है अधिकारी अलर्ट हैं लेकिन सूचना के मुताबिक अब भी कुछ संदिग्ध बिहार में घुसने की फिराक में हैं.

बिहार में तेज हुई सियासत

वहीं इस मुद्दे पर बिहार में सियासत भी जोर पकड़ती जा रही है आरजेडी, कांग्रेस और आरएलएसपी ने मामले को गंभीर बताते हुए सरकार से इस पर तुरंत ध्यान देने की मांग की है, वहीं कांग्रेस ने सवाल उठाते हुए पूछा है कि अब तक सरकार ने बॉर्डर सील क्यों नहीं किया.

कौन है जालिम मुखिया ?

इस बीच इस पूरी साजिश के पीछे जिस हथियार तस्कर जालिम मुखिया का नाम सामने आ रहा है बताया जा रहा है कि वो नेपाल में पर्सा जिले के एक गांव जगन्नाथपुर की नगरपालिका का मेयर है जालिम मुखिया को जालिम मियां के नाम से भी जाना जाता है और वो नेपाल की कम्युनिस्ट पार्टी (माओवादी) का लोकल नेता है.

You may also like...