गूगल और फैसबुक ने समझा ह्यूमन रिसोर्स की अहमियत, मंदी में वर्कफ्रॉम होम को तरजीह

वैश्विक महामारी कोरोना से दुनिया बुरी तरह से प्रभावित है । हर तरफ लोग बेहद परेशान है । इंफेक्शन का सबसे ज्यादा असर ह्यूमन रिसोर्स पर पड़ा है । लगातार मौत की वजह से दुनियाभर की अर्थव्यवस्था प्रभावित हुई है । कई बड़ी-छोटी कंपनियों के दफ्तर बंद है । कुछ कंपनियां मजबूरी में अपने कर्मचारियों को दफ्तर बुला रही है । जबकि कुछ कंपनियों ने ह्यूमन रिसोर्स की अहमियत को तरजीह देकर वर्क फ्रॉम होम की सुविधा को जारी रखा है और आगे भी साल के अंत  तक जारी रखने की बात कही है ।   

अमेरिका में कोरोना वायरस से सबसे ज्यादा मौत हुई है । मौत का आंकड़ा 77 हजार के पास पहुंच चुका है। ऐसे मे अमेरिका की दो बड़ी टेक्निकल कंपनियां फेसबुक और गूगल ने भी कोरोना महामारी में शुरुआती दौर से ही अपने ज्यादातर कर्मचारियों को वर्क फ्रॉम होम करने को कहा। ताकि कोरोना की वजह से काम पर असर ना पड़े और कर्मचारी भी सेहतमंद रहें ।

अमेरिका में अब खुलने लगी कंपनियां

आर्थिक महाशक्ति अमेरिका में लॉकडाउन में ढील दी जा रही है । कंपनियों के दफ्तर भी खुलने शुरू हो गए हैं । अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप के कारोबार में सोशल डिस्टेंसिंग का ध्यान रखकर काम शुरू हो चुका है । इतना ही नहीं गूगल और फेसबुक भी जुलाई में अपने दफ्तर खोल रही है । इसके बावजूद दोनों कंपनियों ने साफ कहा है कि उनके जो कर्मचारी अभी वर्क फ्रॉम होम कर रहे हैं, उन्हें इस साल के अंत तक यह सुविधा मिलती रहेगी।

गुगल के कर्मचारी जुलाई से ऑफिस पाएंगे 

गूगल में वर्क फ्रॉम होम पॉलिसी 1 जून तक लागू रहेगी । कंपनी ने संकेत दिए है कि इसमें अब सात महीने का इजाफा करने का फैसला किया गया है । गूगल के सीईओ सुंदर पिचाई ने कहा कि जिन कर्मचारियों को दफ्तर आने की जरूरत है, वे जुलाई से ऐसा कर पाएंगे। इसके लिए गूगल के दुनियाभर में मौजूद दफ्तरों में सुरक्षा मानकों में इजाफा किया जा रहा है, ताकि कर्मचारी को इंफेक्शन से बचाया जा सके । पिचाई ने साफ कहा कि ज्यादातर इंप्लाई वर्क फ्रॉम होम जारी रख सकते हैं । इससे काम पर असर नहीं पड़ेगा और घर से बेहतर वातावरण में कर्मचारी इस साल के अंत तक काम कर पाएंगे।

फेसबुक में भी जारी रहेगा वर्क फॉर्म होम

गूगल के तर्ज पर फेसबुक ने ह्यूमन रिसोर्स की अहमियत का खासा ध्यान रखा है । फेसबुक ने साफ कहा है कि जो कर्मचारी ऑफिस से दूर रहकर काम जारी रखना चाहते हैं वो साल के आखिर तक वर्क फ्रॉम होम की सुविधा का लाभ उठा सकते हैं । फेसबुक का कहना है कि कोरोना की वजह से हालात में लगातार बदलाव आ रहा है । कर्मचारी हमारे लिए अहम है लिहाजा कर्मचारी और उनके परिवार के बारे में अहम फैसला करना उनका काम है और कंपनी उनका हर संभव सहयोग करना चाहती है।    

फेसबुक ने कोरोना संकट में दिया बोनस

कोरोना महामारी में दुनिया की ज्यादातर कंपनिया कॉस्ट कटिंग में लगी है । कर्मचारियों की सैलरी में 30 से 40 फीसदी तक कटौती की जा रही है । लेकिन महामारी के दौर में भी फेसबुक उन कपनियों में शामिल रही है, जिसने महामारी को देखते हुए कर्मचारियों को वर्क फ्रॉम होम की सुविधा दी थी। फेसबुक ने घर से काम करनेवाले कर्मचारियों को घर में वर्क स्टेशन तैयार करने और बच्चों की देखभाल के लिए 1 हजार डॉलर यानी करीब 75 हजार रुपए का बोनस भी दिया था । इधर, भारत में इन्फोसिस और HCL जैसी कंपनियों ने भी वर्क फ्रॉम होम को बढ़ावा देना जारी रखेंगी । इसके बेहतर नतीजे सामने आ रहे हैं । इसके बावजूद भारत की अधिकांश कंपनियों में स्टाफ से जबरदस्त काम लिया जा रहा है साथ ही उनकी सैलरी कम दी जा रही है ।

You may also like...