लॉकडाउन में सलाखों के पीछे पहुंचे AAP विधायक, डॉक्टर भाटी सुसाइड केस में गिरफ्तारी

राजधानी दिल्ली के देवली विधानसभा से विधायक प्रकाश जारवाल हवालात के पीछे पहुंच गए हैं। केजरीवाल सरकार में विधायक प्रकाश जारवाल और उनके सहयोगी कपिल नागर को दिल्ली पुलिस ने डॉक्टर राजेंद्र भाटी सुसाइड केस में गिरफ्तार किया है।

18 अप्रैल को डॉक्टर ने लगाई थी फांसी

डॉक्टर राजेंद्र भाटी ने बीते 18 अप्रैल को अपने घर में फांसी लगाकर जान दे दी थी और सुसाइड नोट में विधायक और उसके सहयोगी का नाम लिखा था। जिसके बाद आम आदमी पार्टी के आरोपी विधायक प्रकाश जारवाल और उनके सहयोगी कपिल नागर के खिलाफ गैर जमानती वारंट जारी किया गया था।

बार-बार समन के बाद भी पेश नहीं हुए विधायक

इससे पहले दिल्ली पुलिस ने विधायक और उनके सहयोगी को दो बार पूछताछ के लिए समन भेजा था, लेकिन उनमें से कोई एक बार भी पुलिस के सामने नहीं आए। तब पुलिस ने उनके खिलाफ गैर-जमानती वॉरंट जारी करवाया और उन्हें पुष्प विहार इलाके से ही गिरफ्तार कर लिया गया।

सुसाइड लेटर में विधायक पर संगीन आरोप

प्रकाश जारवाल पर 52 साल के एक डॉक्टर ने कथित तौर पर जबरन वसूली का आरोप लगाया था। दरअसल 18 अप्रैल को दिल्ली के नेब सराय इलाके के डॉक्टर राजेंद्र सिंह ने आत्महत्या कर ली थी और सुसाइड नोट पर विधायक पर गंभीर आरोप लगाए थे। दिल्ली पुलिस ने बताया था कि मृत डॉक्टर के घर से एक लिखित नोट मिला था। जिसमें आप विधायक जरवाल को मृतक डॉक्टर ने अपनी मौत का जिम्मेदार बताया।

You may also like...