दिल्ली-NCR में फिर हिली धरती, 60 दिन में 14वीं बार लगे भूकंप के झटके

दिल्ली और उसके आसपास के इलाके में एक बार फिर धरती कांपी। बार-बार आ रहे भूकंप के झटके ने लोगों की दहशत बढा दी है। शुरुआती जानकारी के मुताबिक, भूकंप का केंद्र दिल्‍ली से सटे गुरुग्राम के पश्चिम में जमीन से 18 किलोमीटर गहराई में था। इस बार भूकंप की तीव्रता रिक्टर स्केल पर 2.1 ही मापी गई।

आज के भूकंप की तीव्रता कम थी और इससे जान-माल के नुकसान की भी कोई खबर नहीं है। लेकिन बार-बार आ रहे झटकों को लेकर लोग बुरी तरह सहमे हुए हैं। पिछले दो महीने में अब तक करीब दर्जन भर बार दिल्ली और आसपास की धरती हिल चुकी है।

भूकंप के इन झटकों को किसी बड़ी त्रासदी की आहट के रूप में देखा जा रहा है। हालांकि जानकारों की मानें तो भूकंप ये छोटे-छोटे झटके किसी बड़े झटके के खतरे को कम कर रहे हैं। दोपहर एक बजे दिल्‍ली-एनसीआर में झटके महसूस किए गए। इससे पहले आए झटकों का केंद्र कभी दिल्‍ली, कभी फरीदाबाद, रोहतक रहा है।

दिल्‍ली पर हमेशा मंडराता रहता है भूकंप का खतरा

भूकंप के लिहाज से, भारत को चार अलग-अलग जोन में बांटा गया है। जिसमें दिल्ली-NCR IV में जोन आता है, जिसे ‘गंभीर’ माना जाता है। राजधानी दिल्ली देश में सबसे अधिक भूकंप अनुभव करने वाले शहरों में से एक है।

You may also like...